गुजरात में लॉकडाउन, आवश्यक वस्तुओं को छोड़ अन्य दुकानें खोली तो होगी जेल

अहमदाबाद: तेजी से बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामलों की रोकथाम के लिए 25 मार्च तक गुजरात को लॉकडाउन कर दिया गया है| इस दौरान जीवन जरूरी चीज-वस्तुओं को छोड़ अन्य कोई दुकान खोलने पर व्यापारियों को जेल जाना पड़ सकता है| लॉकडाउन कराने के लिए अलग अलग टीमें बनाई गईं हैं जो सभी दुकानें और बाजार बंद कराएंगी| लॉकडाउन का पालन नहीं करने इंडियन पिनल कोड और एपिडेमिक एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी|
अहमदाबाद नगर निगम आयुक्त विजय नेहरा ने कोरोना संक्रमण से बचने के लिए सोशल डिस्टन्स और लोगों के एकत्र नहीं होने की अपील की है| नगर निगम के उपायुक्त मुकेश गढ़वी ने कहा कि सोमवार से शहर के सभी बाजार और दुकानें बुधवार तक पूरी तरह बंद रहेंगी| इस दौरान जरूरी वस्तुओं को छोड़ अन्य दुकानें या ऑफीस खोली जाती हैं तो पुलिस केस दर्ज कर जेल भेजा जाएगा| दुकानों और बाजारों को बंद कराने के लिए नगर निगम ने 400 जितनी टीमें बनाई हैं, जो शहर में कड़ाई से आदेश का पालन कराएंगी|
25 मार्च तक आवश्यक सेवाएं जारी रहेंगी| जिसमें बैंक, रिजर्व बैंक, अखबार, टेलिकॉम, सब्जी-फल, दूध की दुकानें, अस्पताल मेडिकल स्टोर, लेबोरेटरी, ब्लड बैंक, बिजली और पेट्रोल पंप इत्यादि शामिल हैं| अहमदाबाद में कोरोना वायरस के नियंत्रण के लिए नगर निगम ने शहर में 110 स्थलों पर 4 करोड़ लीटर एन्टिवायरल दवाई का छिड़काव किया गया है|

Loading...
loading...
Loading...