गायत्री ज्ञान मंदिर इन्दिरा नगर में 2 सितम्बर से प्रारम्भ होगा पिण्ड तर्पण

-17 सितम्‍बर तक चलने वाले कार्यक्रम में यम गायत्री से प्रदान की जायेंगी विशेष आहुतियाँ

-पितृ तर्पण में नर-नारी कोई भी ले सकते हैं हिस्‍सा, एक दिन पूर्व होगा पंजीयन

फाइल फोटो

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

उमानंद शर्मा

लखनऊ। इन्दिरा नगर सेक्टर-9 स्थित गायत्री ज्ञान मंदिर में प्रतिवर्ष की भॉति पितृपक्ष के अवसर पर 2 सितम्बर से पिण्ड तर्पण प्रारम्भ होगा तथा 17 सितम्बर तक नियमित चलेगा। पूर्णिमा का तर्पण 2 सितम्‍बर को होगा।

कार्यक्रम के मुख्य संयोजक उमानंद शर्मा ने यह जानकारी देते हुए बताया कि सरकार के लॉकडाउन नियमानुसार, सोशल डिस्टेन्सिंग, मास्क एवं छोटा पॉकेट सेनीटाइज़र की अनिवार्यता के साथ पिण्ड तर्पण एवं गायत्री यज्ञ होगा। उन्‍होंने बताया कि प्रातः 5.30 बजे से देव आह्वान, देवपूजन के उपरान्त पिण्ड तर्पण प्रारम्भ होगा, तदोपरान्त गायत्री यज्ञ प्रतिदिन होगा। पितृं की आत्म उन्नति के यम गायत्री से विशेष आहुतियाँ प्रदान की जायेंगी।

श्री शर्मा ने बताया कि तर्पण के सभागार में युग ऋषि द्वारा रचित धर्म एवं अध्यात्म, वैज्ञानिक विश्लेषण के साथ जीवन मृत्यु एवं पितृं से सम्बन्धित विशेष साहित्य जैसे- मैं क्या हूँ?, गहना कर्मागति, मरने के बाद हमारा क्या होता है, पितरों को श्रद्धा दें, वे शक्ति देंगे, पितर हमारे अदृश्य सहायक, मरणोतर जीवन उसकी सच्चाई, जीवन एवं मृत्यु, भूत कैसे होते हैं क्या करते हैं?, स्वर्ग-नर्क की स्वचालित प्रक्रिया, मरे तो सही बुद्धिमता के साथ, जल्दी मरने की उतावली न करें आदि पुस्तकें सभागार में अवलोकन के लिए प्रदर्शित रहेंगी। इन्‍हें खरीदा भी जा सकता है।

उन्‍होंने बताया कि पिण्ड तर्पण में नर-नारी जातिवंश का भेद नहीं होगा सभी भागीदारी कर सकते हैं। कार्यक्रम में भाग लेने के लिए एक दिन पूर्व पंजीयन करना अनिवार्य होगा।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button