गरीबों के लिए हमेशा खुले रहते हैं इनके घर के दरवाजे, 2005 से लगातार विधायक

बेगूसराय। बिहार विधान सभा अपने कार्यकाल का पांच साल पूरा कर चुकी है। विकास का पिटारा खोल चुकी सरकार आत्मविश्वास से लबालब है। सरकार के विकास कार्य, विधायकों के कार्य और जनता से जुड़ाव की एक बार फिर परीक्षा होगी। ऐसे में विधानसभा क्षेत्रों के विकास को परखने की पहली कड़ी में हम चलते हैं बेगूसराय के मटिहानी विधानसभा क्षेत्र।

Loading...

2005 में निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में एक युवक ने यहां वामपंथ के किले की नींव हिला कर विजय पताका लहरा दिया। दबंग छवि के माने जाने वाले बेगूसराय के मटिहानी विधानसभा क्षेत्र के विधायक नरेंद्र कुमार सिंह उर्फ बोगो सिंह में कई ऐसे गुण हैं जो बिहार के किसी भी विधायक में नहीं हैं। इनके गाड़ी के शीशे और घर के दरवाजे क्षेत्र के गरीबों के लिए हमेशा खुले रहते हैं। बाढ़ में नाव और सुखाड़ में दिन भर बुलेट लेकर घर-घर घूमते हैं और 2005 से अब तक लगातार मटिहानी विधानसभा क्षेत्र से विधायक चुने जाते रहे।
बेगूसराय के मटिहानी विधानसभा क्षेत्र के विधायक कहते हैं कि आजादी के बाद से ही इस क्षेत्र में विकास नगण्य था, आधारभूत संरचना नहीं थी। लेकिन आज हर गांव में बिजली पहुंच चुकी है, सड़कें के बन रही है। मैं विधायक रहूं या ना रहूं अगले साल तक शेष तमाम सड़कें बन जाएगी, हमने जो कहा वह किया है। हकीकत से जनता रूबरू है, उन्हें जनता के बीच जाना कहां है, वह तो हमेशा जनता के बीच ही रहते हैं। सभी सात लाख लोगों के घर तक हर सुख-दुख में पहुंचते हैं। विकास का रोल मॉडल और सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास के पैमाने पर खड़ी उतरने वाली एनडीए की फिर सरकार बनेगी।
Also Read : भिवंडी में 43 साल पुरानी बिल्डिंग गिरने से 10 लोगों की मौत, कई के दबे होने की आशंका
आज तक देश को ना तो मोदी जैसा पीएम मिला और ना ही बिहार को नीतीश जैसा सीएम। यह सरकार पिछले सरकारों की तरह हवाबाजी नहीं करती, जो कहती है वह करती है। बोगो सिंह ने बताया कि मूल धर्म मानवीय संवेदना को देखने-सुनने-साझा करने में साल दर साल गुजर रहे हैं। अपने आवास पर प्रत्येक शनिवार को 23 साल से जनता दरबार लगाने वाले यह विधायक गांव-गांव घूमकर भी जनता दरबार लगाते हैं तथा उस दरबार में केंद्र एवं बिहार सरकार के हर स्कीम का लाभ दिलाया जाता है।
जिला के अन्य क्षेत्रों से तुलना करें तो स्वास्थ्य, शिक्षा, सड़क, राशन, पेंशन सभी क्षेत्रों में मटिहानी क्षेत्र सबसे आगे हैं। अब कला को मंच दिलाने के लिए सभी हाई स्कूल में ऑडिटोरियम बनाने का अभियान शुरू किया गया है। इनका ड्रीम प्रोजेक्ट है सिमरिया से गंगा नदी का पानी फिल्टर मथार दियारा तक के लोगों को पीने के लिए पहुंचाना। युद्ध स्तर पर काम चल रहा है, जमीन विवाद के कारण कुछ बाधाएं आई, जिसका समाधान किया जा रहा है। थर्मल से तीन मुहानी होते हुए बलिया तक के गुप्ता-लखमिनियां बांध पर पीडब्ल्यूडी की सड़क बनवाने के लिए 65 करोड़ का डीपीआर बन चुका है।
शाम्हो-मटिहानी के बीच गंगा नदी पर पुल बनाने के लिए राज्यसभा सांसद प्रो. राकेश सिन्हा प्रयासरत हैं, इसके लिए उन्हें धन्यवाद। रिफाइनरी में पेट्रोकेमिकल की शुरुआत अब तक नहीं होने के लिए पिछली सरकारों को जिम्मेदार मानते हुए बोगो सिंह कहते हैं कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जल्द ही उनका यह सपना पूरा करेंगे। शाम्हो दियारा को विकास के सर्वोच्च शिखर पर ले जाने का दावा करते हुए उन्होंने कहा कि दियारा इलाके में 20 से 22 घंटे बिजली मिल रही है, सूर्यगढ़ा होकर जाने के लिए 20 करोड़ की लागत से पुल उन्होंने बनवाया है। प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री समाज के अंतिम पायदान तक के व्यक्ति को हर सुविधा दिलाने के लिए 24 घंटे चिंतित हैं।
The post गरीबों के लिए हमेशा खुले रहते हैं इनके घर के दरवाजे, 2005 से लगातार विधायक appeared first on Vishwavarta | Hindi News Paper & E-Paper.

loading...
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Loading...
Back to top button