क्या आपत्तिजनक हालत में थे विवेक तिवारी और सना खान, जानिए सबसे बड़ा खुलासा

उत्तर प्रदेश :लखनऊ में हुआ हाल ही में विवेक एनकाउंटर अब एनकाउंटर कम हत्याकांड ज्यादा लग रहा है। गौरतलब है कि इस एनकाउंटर के सामने आने के बाद तमाम प्रकार के प्रश्न खड़े हो रहे हैं। जिसमें तमाम लोग पुलिस वालों को कोस रहे हैं, वहीं अनेक लोगों ने विवेक तिवारी और सना खान को ही दोषी ठहराया है। लेकिन तथ्य और सना खान के बयान के आधार पर अब कई बड़े खुलासे होते दिख रहे हैं। क्योंकि घटनास्थल पर जो तथ्य सामने पाए गए हैं, वह सना खान के बयान से ज्यादातर मिल रहे हैं। जबकि पुलिस के बयान से उन तथ्यों का दूर-दूर तक कोई वास्ता नहीं है।

बताते चलें कि जब यह खबर सामने आई कि रात में सना खान और विवेक तिवारी गाड़ी के अंदर बैठे हुए थे। जिसकी लाइटें भी बंद थी, इसके बाद एक सबसे बड़ा प्रश्न खड़ा हुआ कि क्या सना और विवेक आपत्तिजनक हालत में थे, क्योंकि यह प्रतिक्रिया लोगों के द्वारा काफी ज्यादा देखी गई है। तो हम आपको बता दें कि ऐसा बिल्कुल नहीं था विवेक और सुना आपत्तिजनक स्थिति में नहीं थे। जिसका खुलासा गाड़ी के सेफ्टी बलून करते हैं। आपको बता दें की गाड़ी के सेफ्टी बलून तभी खुलते हैं, जब सीट बेल्ट लगी हो। तथा गाड़ी के दोनों सेफ्टी बलून का खुलना यह स्पष्ट करता है कि दोनों ने सीट बेल्ट लगा रखी थी। जिससे उनके आपत्तिजनक स्थिति में होने का कोई प्रश्न ही नहीं उठता।

इसके आगे सना खान ने अपने बयान में कहा कि जब दोनों पुलिस वाले उनके पास आए तो उन्होंने नाम इत्यादि विवेक से पूछा। इसके पश्चात विवेक ने दोनों पुलिसवालों को एप्पल के नए फोन की लॉन्चिंग के बारे में भी बताया। हालांकि उन्होंने इसे नजरअंदाज कर उनसे भिड़ना शुरू कर दिया। जिस कारण से विवेक तिवारी ने गाड़ी को रिवर्स कर जाने की सोची। उसी समय पुलिस वाले की मोटरसाइकिल में हल्की सी टक्कर लगी। और रोड के डिवाइडर पर खड़े हुए पुलिस वाले ने विवेक पर गोली चला दी। जिससे उसकी मौत हो गई।

हालांकि पुलिस वालों का कहना है कि उन्होंने सेल्फ डिफेंस में गोली चलाई है। लेकिन प्रश्न यह उठता है कि जब विवेक के पास कोई हथियार नहीं था तथा पुलिस वाले दो थे, जबकि विवेक अकेला था। ऐसे में उन्हें किस प्रकार का खतरा था? इसके अलावा जिस इलाके में यह एनकाउंटर हुआ है, उस इलाके में जगह जगह पर पुलिस की तैनाती है। ऐसे में विवेक कहीं भाग भी नहीं सकता था। तो फिर जहां पर कोई खतरा नहीं वहां पर सेल्फ डिफेंस में गोली चलाने का मतलब फिलहाल कुछ स्पष्ट समझ नहीं आता। हालांकि जांच चल रही है तथा आरोपी को जेल भी भेजा जा चुका है।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button