कोरोना live : देश में कोरोना संक्रमण के मामले 90 हजार के पार

 लॉकडाउन 31 मई तक बढ़ा
 कोरोना निषिद्ध क्षेत्रों के बाहर अंतर्राज्यीय बसों की इजाजत
आरोग्य सेतु ऐप की अनिवार्यता खत्म
लॉकडाउन की स्थिति और स्वरूप की जिम्मेदारी राज्य सरकारें तय करेंगी
न्यूज डेस्क
देश में कोरोना संक्रमण के मामले में तेजी से इजाफा हो रहा है। कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए देश में हुए लॉकडाउन में सरकार ने विस्तार देने के साथ-साथ गाइडलाइन भी जारी कर दी है। अब 31 मई तक देश में तालाबंदी रहेगी।
देश में कोविड-19 के कारण बीते 24 घंटे में और 120 लोगों की मौत होने के साथ कुल मृतकों की संख्या बढ़ कर 2,872 हो गई है। इसी अवधि में संक्रमण के 4,987 नए मामले सामने आए, जो अब तक एक दिन में सर्वाधिक हैं। भारत में संक्रमण के कुल मामले 91 हजार के करीब पहुंच गए हैं।

देश में लॉकडाउन का यह चौथा चरण है जिसमें दो राज्यों के बीच यात्री परिवहन आपसी सहमति के बाद ही चलाने की इजाजत दी गई है। सरकार के इस कदम से पैदल अपने घर पहुंचने की जद्दोजहद कर रहे हजारों प्रवासी श्रमिकों को तत्काल राहत मिलने की संभावना है।
लॉकडाउन के इस चौथे चरण के लिए गृह मंत्रालय ने जारी नए दिशानिर्देशों के तहत 31 मई तक सभी घरेलू और अंतरराष्ट्रीय  उड़ान सेवाओं पर प्रतिबंध रहेगा। साथ ही मेट्रो रेल सेवा बंद रहेगी और रात 7 बजे से सुबह 7 बजे तक नाइट कर्फ़्यू जारी रहेगा।
सरकार के इस कदम से पैदल अपने घर पहुंचने की जद्दोजहद कर रहे हजारों प्रवासी श्रमिकों को तत्काल राहत मिलने की संभावना है।
केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा लॉकडाउन 4.0 के जारी नये दिशानिर्देशों में आर्थिक गतिविधि को बढ़ाने के लिए 31 मई तक और रियायतें दी गयी हैं, जिनमें मॉल को छोड़ कर बाजारों में नाई की दुकानों, सैलून और स्पा समेत अन्य दुकानों को अलग-अलग समय पर खोलने की अनुमति दी गयी है।
ई-कॉमर्स कंपनियों को भी सभी वस्तुओं की घरों तक आपूर्ति की अनुमति दे दी गयी है, जिनमें वे वस्तुएं भी शामिल हैं जो आवश्यक वस्तुओं की श्रेणी में नहीं आतीं।

हालांकि, गृह मंत्रालय ने कहा कि रात में कर्फ्यू जारी रहेगा, जिसका मतलब है कि शाम सात बजे से सुबह सात बजे तक गैर-जरूरी यात्राएं प्रतिबंधित रहेंगी और अधिकारी इनका अनुपालन सुनिश्चित करेंगे।
लॉकडाउन के नए दिशानिर्देशों में आरोग्य सेतु ऐप की अनिवार्यता खत्म
लॉकडाउन के चौथे चरण के दिशानिर्देशों में सरकार ने आरोग्य सेतु ऐप से जुड़े नियम को सरल बना दिया है। सरकार ने इस ऐप को डाउनलोड करने की अनिवार्यता खत्म करके इसे वैकल्पिक कर दिया है। आरोग्य सेतु ऐप को कोरोना वायरस संक्रमण की निगरानी के लिए विकसित किया गया है।
गृह मंत्रालय के रविवार को जारी नए दिशानिर्देशों में सरकार ने ऐप के फायदों पर विशेष जोर दिया है। सरकार ने कहा कि यह ऐप कोरोना वायरस के संभावित जोखिम का पहले से पता लगाने में मदद करता है। यह व्यक्तियों और समाज के सुरक्षा कवच की तरह है।
नए दिशानिर्देशों के मुताबिक, ”कार्यालयों और कार्यस्थलों पर सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए नियोक्ताओं को सभी कर्मचारियों के मोबाइल में आरोग्य सेतु ऐप को डलवाना सुनिश्चित करने के प्रयास करने चाहिए।”
 

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button