कोरोना : हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन की ट्रंप ने फिर की हिमायत

जुबिली न्यूज डेस्क
अमरीकी राष्ट्रपति डोनॉल्ड ट्रंप ने एक बार फिर कोरोना के इलाज में हॉइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन को कारगर बताया है। उन्होंने कहा है कि मलेरिया की दवा कोविड-19 के इलाज में केवल इसलिए खारिज किया जा रहा है, क्योंकि उन्होंने इसे सजेस्ट किया है।
वहीं ट्विटर ने राष्ट्रपति ट्रंप के बड़े के ट्वीट करने पर 12 घंटे की पाबंदी लगाई गई है। यह पाबंदी उन पर एक वीडियो पोस्ट करने के चलते लगाई गई है जिसमें हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन के फायदे बताए गए हैं।
यह भी पढ़ें : कोरोना काल में पहली सीरीज इंग्लैंड के नाम
यह भी पढ़ें : पूर्व IAS अधिकारी का ट्वीट- इस IPS अधिकारी से डरते हैं CM योगी
यह भी पढ़ें : कोरोना महामारी : हर महीने भूख से 10,000 बच्चों की मौत

अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप सहित कुछ लोगों ने मलेरिया की इस दवा को कोरोना वायरस में फायदेमंद बताया है, हालांकि मेडिकल स्टडी में इसकी कोई पुष्टि नहीं हुई है।
राष्ट्रपति ट्रंप ने व्हाइट हाउस में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि “जब मैं कोई चीज रिकमेंड करता हूं तो वे इसे खारिज करना पसंद करते हैं।”
डोनाल्ड ट्रंप लगातार हॉइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन की हिमायत करते आ रहे हैं। वह कई बार कह चुके हैं कि यह दवा कोरोना के इलाज में कारगर है।
ट्रंप के दावों के बाद भी अब तक इस दवा के कोरोना के इलाज में कारगर होने के कोई सबूत नहीं मिले हैं। विशेषज्ञों के मुताबिक इस दवा के इस्तेमाल से हृदय संबंधी मुश्किलें बढ़ जाती हैं। पिछले ही महीने अमरीकी फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) ने कोरोना संक्रमण के इलाज में इस दवा के इस्तेमाल को लेकर चेतावनी जारी कर चुका है।
विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी कहा है कि हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन के कोरोना के इलाज में कारगर होने के अब तक कोई सबूत नहीं मिले हैं। उनके इस बयान से पहले ट्विटर ने उनके बड़े बेटे पर इस दवा की प्रशंसा वाले एक वीडियो पोस्ट करने के बाद 12 घंटे के लिए पाबंदी लगाई है।
यह भी पढ़ें :  फर्जी टीचर, फर्जी छात्र और जुर्माना महज एक लाख
यह भी पढ़ें :   यदि सोनू सूद होता भारत का प्रधानमंत्री तो…

कोरोना वायरस के इलाज के लिए हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन को डोनाल्ड ट्रंप ने सबसे पहले मार्च में कारगर बताया था। 73 साल के डोनाल्ड ट्रंप ने इसके बाद मई में कहा कि उन्होंने इस दवा से अपना इलाज किया।
उन्होंने मंगलवार को संवाददाताओं से कहा कि 14 दिनों तक इस दवा का सेवन करने के बाद भी उन्हें कोई साइड इफेक्ट महसूस नहीं हुआ है। उन्होंने कहा, “मैं केवल अपनी बात रख सकता हूं, काफी पढऩे और जानकारी हासिल करने के बाद मुझे लगता है कि शुरुआती स्टेज में यह कारगर दवा है। मेरे ख्याल से इसके इस्तेमाल से आपका कोई नुकसान नहीं होता है, वरना यह इतनी लोकप्रिय नहीं होती।”

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button