कोरोना से लड़ने के लिए मोदी सरकार का बड़ा कदम, कैबिनेट मंत्रियों को सौंपी राज्यों की जिम्मेदारी

नई दिल्ली: भारत में कोरोना के मरीजों की संख्या की तेजी से बढ़त हो रही है। अब तक 649 मामले सामने आ चुके है। अब इससे लड़ने के लिए मोदी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। गुरुवार को सभी केंद्रीय कैबिनेट मंत्रियों को राज्‍यों का प्रभारी बनाया गया है। ये सभी यह सुनिश्चित करेंगे कि कोरोना संक्रमण से निपटने के दौरान राज्‍यों में कोई दिक्‍कत ना हो। साथ ही ये सभी हर जानकारी प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) को देंगे।
महाराष्ट्र की जिम्मेदारी नितिन गडकरी और प्रकाश जावडे़कर को दी गई है। राजस्थान और पंजाब राज्यों की बात की जाए तो केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत को जिम्मेदारी दी गई है। पूर्वोत्तर के राज्य असम का दायित्व जनरल (रि) वीके सिंह को मिला है। उत्तर प्रदेश का प्रभार राजनाथ सिंह, संजीव बाल्यान, महेंद्रनाथ पांडेय और कृष्णपाल गुर्जर को दिया गया है। इसाी तरह बिहार की जिम्मेदारी रविशंकर प्रसाद और रामविलास पासवान को दी गई है। ओडिशा राज्य से जुड़ी जानकारी धर्मेंद्र प्रधान देंगे, छत्तीसगढ़ की अर्जुन मुंडा और झारखंड का कोरोनावायरस डेटा मुख्तार अब्बास नकवी जुटाएंगे। ये सभी मंत्री अपने-अपने प्रभार वाले राज्यों की जानकारी रोजाना पीएमओ को देंगे।
पीएम मोदी ने मंत्रियों से कहा है कि जिस राज्य का उनको दायित्व दिया गया है वहां के कितने जिलों में कितने कोरोना पॉजिटीव है, कितने क्वारंटीन में है उसकी विस्तृत जानकारी पीएम मोदी को दी जाए। साथ ही कहा गया है कि कितने लोगों को होम क्वारेंटाईन में रखा है ये जानकारी भी पीएमओ को सौंपें। राज्य प्रभारियों की जिम्मेदारी में स्वैब टेस्टिंग सुविधा की जानकारी जुटाना शामिल है। सभी मंत्रियों को जिन राज्यों की ज़िम्मेदारी दी उन्हें हर दिन पीएमओ को कोरोनावायरस के संक्रमण अपडेट और बचाव के काम का अपडेट देना होगा।

Loading...
loading...
Loading...