कोरोना संकट के बीच दुकान लगाए दुकानदारों को प्रशासन ने हटवाया

फतेहपुर। कस्बा अमौली में  नायब तहसील दार बिंदकी के नेतृत्व में शुक्रवार को जे सी बी से अवैध कब्जा धारियों के अतिक्रमण गिराए जाते रहे। इसमें काफी दुकानदार ऐसे हैं जो अपने परिवार की रोजी-रोटी के साथ ही इस अवैध जमीन से भरण-पोषण कर रहे थे, वे सभी शनिवार की सुबह से ही अपनी टूटी हुई दुकानों का सामान और मलबा साफ करने में लगे रहे।

इन दुकानदारों का कहना है कि जब दुकान ही तोड़नी थी तो 2 दिन का टाइम दे देते। हम लोग किसी तरह से अपनी दुकानें हटा लेते। हम लोगों को नोटिस तो दी गयी थी पर ये नही मालूम था कि इस तरह से हमारी दुकाने तोड़ कर हमें रोड पर ला कर भूखों मरने की कगार पर खड़ा कर देंगे। कोरोना काल की इस महामारी में वैसे भी परिवार का सही से जीवन यापन नही हो रहा था जो हो भी रहा था वो भी हांथ से चला गया।

गौरतलब है कि शुक्रवार को दिन के 12 बजे से ऐतिहासिक बड़े तालाब के एक दर्जन से ज्यादा अस्थाई निर्माण राजस्व व पुलिस की संयुक्त टीम की मौजूदगी में गिराए गए थे। साथ ही मुख्य बाजार में स्थित एक दर्जन से ज्यादा लोहे की गुमटियों को ध्वस्त किया गया था। बता दें कि अमौली के पश्चिमी छोर पर एक ऐतिहासिक बड़ा तालाब है जिसका आजादी के समय में रकबा 84 बीघा था, परंतु धीरे-धीरे लोगों ने कब्जा कर उसके ऊपर सैकड़ों की संख्या में कच्चे-पक्के मकानों का निर्माण करा रखा है।

विगत दिनों तालाब की खुदाई हुई जिसका निरीक्षण जनपद के जिलाधिकारी संजीव सिंह  ने मौके पर पहुंच कर किया था। ग्रामीणों ने डीएम से शिकायत की थी कि लोगों ने तालाब पर कब्जा कर रखा है। तलाब की स्थिति बहुत खराब हो गई है। इस पर नायब तहसीलदार सिध्दांत सिंह ने मौके पर मौजूद राजस्व अधिकारियों को निर्देश दिया था कि अवैध कब्जा धारियों को चिन्हित कर इनके खिलाफ कार्रवाई की जाए।

शायद इसी का परिणाम रहा कि शुक्रवार को नायब तहसीलदार सिद्धांत के नेतृत्व में कानूनगो व लेखपाल संतोष कुमार, शुभम बाजपेई, जगदीश प्रसाद व अन्य लेखपालों के साथ ही थाना चांदपुर व अमौली पुलिस कल  दोपहर 1  20:00 बजे पूरे दलबल के साथ ऐतिहासिक तालाब में जे सी बी लेकर पहुंचे और अस्थाई रूप से अतिक्रमण किए हुए लोगों का निर्माण ध्वस्त  कराया। इसके बाद कस्बा के मुख्य बाजार पर एक दर्जन से ज्यादा लोग अवैध रूप से लोहे की गुमटियां रख अपनी दुकानें चला रहे थे, उनको भी पूरे दलबल के साथ पहुंचकर पूरी तरीके से ध्वस्त कर दिया गया । अवैध कब्जा धारियों की वर्षों से जमी हुई दुकाने पूरी तरीके से जमींदोज हो गई। लेखपाल अमौली संतोष मिश्रा ने बताया कि बड़े तालाब के अस्थाई निर्माण के साथ ही अवैध रूप से रखी गुमटियां तोड़ डाली गई है ।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button