कोरोना वायरस से सिलिकन वैली में हालात बिगड़े, अमेरिका में इतने लोगों की मौत

 
लॉस एंजेल्स। आईटी वर्ल्ड के लिए विख्यात सिलिकन वैली के कोरोनावायरस से हालात बिगड़ते जा रहे हैं। एपल, गुगुल, फ़ेसबुक आदि बड़ी कंपनियां सैंटा क्लारा काउंटी में है, जिसमें पिछले एक सप्ताह में सौलह लोगों की मौत हो चुकी है। यह सिलिकन वैली है जो भारत सहित दुनिया भर के 17 लाख आईटी पेशेवरों और उनसे सम्बद्ध प्रबंधकों और सहयोगी कर्मियों को रोज़गार देती है तथा उसका कैलिफ़ोर्निया स्टेट की जीडी पी में बारह प्रतिशत अंश है।
कैलिफ़ोर्निया में दो हज़ार 35 नए संक्रमित मामले दर्ज हुए हैं और 53 लोगों की मौत हो चुकी है। देश के उत्तर पश्चिम में वाशिंगटन राज्य की किंग काउंटी में छह और लोगों की मृत्यु हो गई, जबकि 1359 नए संक्रमित मामले दर्ज हुए हैं। अब यह संक्रमण देश के 41 राज्यों में पंख फैला चुका है। जानकार बताते हैं कि कोई आश्चर्य नहीं होगा कि न्यूयॉर्क के बाद कोविड-19 का क़हर इसी क्षेत्र में टूटेगा। इसका कारण यह बताया जा रहा है कि अमेरिका में इस क्षेत्र से लाखों लोगों का दुनिया भर के लोगों से सीधे सम्पर्क रहता है। यों अमेरिका में कोरोना से मरने वालों की संख्या एक हज़ार के पार पहुंच चुकी है और यहां साठ हज़ार से अधिक संक्रमित मामले दर्ज हो चुके हैं।
न्यूयॉर्क में कोरोना का प्रकोप सुर्खियों में रहा। न्यूयॉर्क शहर में तेरह मृत्यु हो गई और एक ही शहर में 285 लोग इस संक्रमण से जान गवां चुके हैं। न्यूयॉर्क राज्य में लाकडाउन और जन जीवन अस्तव्यस्त होने के बावजूद कहीं कहीं निर्माण कार्य चल रहा है। इस प्रदेश में अमेरिका में संक्रमण के कुल 66 हज़ार संक्रमितों में से आधे न्यूयॉर्क राज्य में हैं। न्यूयॉर्क शहर में अठारह हज़ार संक्रमित मरीज़ है।
न्यूयॉर्क के मेयर एंड्रयू क़ौम ने कहा है कि अस्पताल सारे भर चुके हैं और गंभीर मरीज़ों के लिए आने वाले दिनों में तीस हज़ार वेंटीलेटर की ज़रूरत पड़ सकती है। अभी चालीस हज़ार हेल्थकेयर कर्मी जुटे हुए हैं। न्यूयॉर्क से लगते न्यू जर्सी के हालात भी बिगड़ते जा रहे हैं, जहां अभी तक 62 लोगों की जाने जा चुकी हैं। लूजियाना एक दक्षिणी राज्य है, जहां स्थिति ख़राब है।

Loading...
loading...
Loading...