कोरोना : खतरे के निशान पर यूपी , 46 पॉजिटिव केस, नोएडा नम्बर 1

लखनऊ : यूपी में कोरोना अब डराने लगा है। 6 मार्च, 2020 को कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की संख्या महज 5 थी, लेकिन 20 दिन में ये संख्या 46 पहुंच चुकी है। इनमें सर्वाधिक 17 मामले नोएडा के हैं। कोरोना संक्रमण का प्रसार अब तक 12 शहरों में पहुंच चुका है। कोरोना वायरस के बढ़ते प्रसार को रोकने के लिए संपूर्ण भारत में लॉकडाउन है। ज्यादातर लोग अपने-अपने घरों में कैद हैं। सिर्फ रोजमर्रा की वस्तुओं को खरीदने के लिए ऐहतियात बरतते हुए बाहर निकल रहे हैं। लेकिन लॉकडाउन की मार सबसे ज्यादा मजदूरी पेशा वर्ग को पड़ रही है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बॉर्डर पर पैदल आ रहे या दूसरे प्रदेशों के लिए जा रहे मजदूरों के लिए भोजन-पानी की समुचित व्यवस्था करने के लिए अफसरों को निर्देशित किया है।
1819 की रिपोर्ट निगेटिव
सर्वाधिक 17 मामले नोएडा के हैं। आगरा में 9, लखनऊ में 8, गाजियाबाद के 3, पीलीभीत के दो, जबकि लखीमपुरखीरी, बागपत, मुरादाबाद, कानपुर, जौनपुर, शामली व वाराणसी के एक-एक मरीज शामिल हैं। अभी तक 1937 संदिग्ध मरीजों के नमूने जांच के लिए विभिन्न लैब में भेजे जा चुके हैं। इनमें से 1819 की रिपोर्ट निगेटिव आई है। 75 संदिग्धों की रिपोर्ट आना बाकी है।
4 दिन में 28,798 चिन्हित
विदेश से लौटने वालों की सूची बनाने के लिए रैपिड रिस्पांस टीम जुटी है। चार दिन में 28,798 लोग चिन्हित किए गए हैं, जो चीन समेत अन्य कोरोना प्रभावित देशों की यात्रा कर लौटे हैं। अभी तक कुल 37748 लोगों को 14 दिनों तक घरों में क्वैरेंटाइन रहने के निर्देश दिए गए हैं।

Loading...
loading...
Loading...