कोरोना को हराने के लिए आगे आये उद्योगपति

न्यूज डेस्क
कोरोना वायरस को हराने के लिए भारत ने कमर कस ली है। सरकार एक के बाद एक फैसले ले रही है और जनता उसमें सहयोग कर रही है। अब कोरोना को हराने के लिए उद्योगपति भी सामने आ रहे हैं। रविवार को महिंद्रा एंड महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंदा ने मदद के लिए आगे आए तो उनके बाद वेदांता वेदांता रिसोर्सेज लिमिटेड के एक्सीक्यूटिव चेयरमैन अनिल अग्रवाल भी मदद के लिए आगे आए हैं।
रविवार को अनिल अग्रवाल ने ट्वीट कर मदद करने की पेशकश की। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा- “मैं इस महामारी से निपटने के लिए 100 करोड़ देने का वादा करता हूं। #DeshKiZarooratonKeLiye एक प्रतिज्ञा है जिसे हमने शुरू किया और यह वह समय है जब हमारे देश को हमारी सबसे अधिक आवश्यकता है। बहुत से लोग अनिश्चितता का सामना कर रहे हैं और मैं दैनिक वेतन भोगियों के बारे में विशेष रूप से चिंतित हूं, हम मदद करने के लिए अपनी पूरी कोशिश करेंगे”

ये भी पढ़े :  कोरोना : इटली की एक भूल ने मचा दी तबाही

I am committing 100 cr towards fighting the Pandemic. #DeshKiZarooratonKeLiye is a pledge that we undertook & this is the time when our country needs us the most. Many people are facing uncertainty & I’m specially concerned about the daily wage earners, we will do our bit to help pic.twitter.com/EkxOhTrBpR
— Anil Agarwal (@AnilAgarwal_Ved) March 22, 2020

Ujjawal Prabhat Android App Download Link

अग्रवाल से पहले कोरोना वायरस को लेकर देश में जो मौजूदा स्थिति है, उस पर चिंता व्यक्त करते हुए आनंद महिंद्रा ने वेंटिलेटर्स बनाने से लेकर सैलरी तक देने का फैसला लिया है।

रविवार को महिंद्रा ने लगातार कई ट्वीट कर भारत में कोरोना वायरस से लडऩे के लिए कुछ खास पहल के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि जानकारों के मुताबिक, बहुत हद तक यह संभव है कि भारत कोरोना वायरस के तीसरे स्टेज में पहुंच चुका है। अगर ऐसा है तो इससे लाखों लोगों के लिए खतरा बढ़ गया है। इससे हमारे मेडिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर चरमरा सकती है।
उन्होंने आगे कहा कि अगले कुछ हफ्तों में लॉकडाउन करने से मामलों में कमी आएगी और मेडिकल सुविधाओं पर भी बोझ कम होगा। हालांकि, हमारे लिए जरूरी है कि हम कुछ टेम्पोररी हॉस्पिटल्स खोलें और वेंटिलेटर्स की व्यवस्था करें।
एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा कि इस खतरे से निपटने के लिए महिंद्रा ग्रुप में हम अभी से ही इस बात पर काम करना शुरू कर चुके हैं कि वेंटिलेटर्स बनाया जा सके। महिंद्रा हॉलिडेज में, टेम्पोरेरी सुविधाओं के लिए हम अपने रिसॉर्ट आफर कर रहे हैं। इन रिसॉर्ट्स में सुविधाओं के लिए हमारी प्रोजेक्ट टीम सरकार और सेना की मदद करने के लिए तैयार है।

Going by various reports from epidemiologists, it is highly likely that India is already in Stage 3 of transmission.
—Cases could rise exponentially with millions of casualties, putting a huge strain on medical infrastructure (1/5)
— anand mahindra (@anandmahindra) March 22, 2020

ये भी पढ़े :  कोरोना : मदद के लिए आगे आए आनंद महिंद्रा ने क्या कहा?
फंड जुटायेगी महिंद्रा फाउंडेशन
आनंद महिंद्रा ने ऐलान किया कि कोरोना वायरस की वजह से छोटे कारोबारियों और स्वरोजगार वाले लोगों को हुए नुकसान की हम भरपाई करेंगे। इसके लिए हम महिंद्रा फाउंडेशन के जरिए फंड जुटा रहे है। हम एसोसिएट्स से उम्मीद करते हैं कि वो भी इस फंड में अपना योगदान देंगे।
उन्होंने यह भी कहा कि वो अपनी 100 फीसदी सैलरी इस फंड के लिए देंगे। इसके अलावा, अगले कुछ महीनों में और भी रकम इसमें डालेंगे।
ये भी पढ़े :  क्या ताली बजाने से कोरोना का संक्रमण नष्ट होता है?

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button