कोरोना के साथ निमोनिया को हराया स्‍वामी रामभद्राचार्य ने

-22 अगस्‍त को कराया गया था संजय गांधी पीजीआई में भर्ती

Loading...

लखनऊ। कोविड संक्रमण के बाद संजय गांधी पीजीआई के राजधानी कोरोना अस्पताल में भर्ती कराये गये जगद्गुरु स्वामी रामभद्राचार्य को आज 12 सितम्‍बर को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। स्वामी जी को 22 अगस्त को कोविड निमोनिया जैसे खांसी, सांस फूलना और बुखार के लक्षणों के साथ अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

संस्‍थान द्वारा यह जानकारी देते हुए कहा गया है कि ऑक्सीजन सैचुरेशन कम होने के कारण उन्हें आईसीयू में भर्ती किया गया था। निदेशक डॉ आरके धीमन के नेतृत्व में उनके स्वास्थ्य की देखभाल के लिए विशेषज्ञों की एक टीम बनाई गई जिसमें डॉ आर के सिंह,  डॉ आलोक नाथ,  डॉ जिया हाशिम,  डॉक्टर संदीप साहू,  डॉक्टर अजमल,   डॉ अनिल अग्रवाल शामिल थे। यथोचित उपचार के पश्चात स्वास्थ्य में निरंतर सुधार आने पर उन्हें प्राइवेट कक्ष में रखा गया।

विज्ञप्ति में बताया गया है कि स्वामी जी ने अत्यंत धैर्य पूर्वक अपना उपचार करवाया और चिकित्सकों के अथक प्रयासों से उन्हें उपचार में त्वरित लाभ प्राप्त हुआ। स्वास्थ्य लाभ होने पर तथा कोरोना मुक्त होने पर उन्हें आज अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। संस्थान के निदेशक प्रोफेसर आर के धीमन और उनके उपचार से जुड़े संकाय सदस्यों ने उनके स्वस्थ जीवन की कामना करते हुए उन्हें विदा किया।  स्वामी जी ने सभी स्वास्थ्य कर्मियों को आशीर्वचन दिया और उनके स्वस्थ और लंबे जीवन की कामना की।

loading...
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Loading...