कोरोना की मार से शेयर बाजार हलकान, लोअर सर्किट लगने पर 45 मिनट के लिए कारोबार बंद

न्यूज डेस्क
कोरोरा के कहर से दुनिया कराह रही है। पूरी दुनिया ठहर गई है। दुनिया भर के शेयर बाजारों पर कोरोना का कहर जारी है। सोमवार को भारतीय शेयर बाजार पर कोरोना का असर दिखा। सेंसेक्स में लोअर सर्किट लग गया, जिसके बाद 45 मिनट के लिए कारोबार बंद कर दिया गया। ऐसा एक महीने में दूसरी बार हुआ है। 12 मार्च को भी ऐसे ही लोअर सर्किट लगा था।
बता दें कि जब लोअर सर्किट लगता है तो कुछ देर के लिए ट्रेडिंग रोक दी जाती है।
सोमवार को भारतीय शेयर बाजार पर कोरोना का असर दिखा। शेयर बाजार में भारी गिरावट देखी गई। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का सेंसेक्स 2307 अंकों की भारी गिरावट के साथ 27608 पर खुला। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी करीब 800 अंकों की गिरावट के साथ 7945 पर खुला।
सोमवार सुबह 9.40 बजे तक सेंसेक्स 2775 अंक टूटकर 27,140 पर पहुंच गया। इसी तरह निफ्टी भी थोड़ी ही देर में 7,941 तक पहुंच गया। करीब 860 शेयरों में गिरावट है, सिर्फ 90 शेयरों में तेजी देखी गई।सेंसेक्स के सभी शेयर लाल निशान में हैं।
सोमवार को शेयर बाजार खुलने के बाद कोरोना वायरस का कहर समूचे एशियाई शेयर बाजारों में दिखा। दुनिया के कई देशों द्वारा दिए गए राहत पैकेज से बाजारों को कोई सहारा नहीं मिला है और निवेशकों की बेचैनी बरकरार है। निवेशकों का नेगेटिव मूड इस वजह से और हावी हो गया क्योंकि एक लाख करोड़ डॉलर के इमरजेंसी आ​​र्थिक  पैकेज पर अमेरिकी सांसदों में सहमति नहीं बन पाई है।
ये भी पढ़े : कोरोना वायरस LIVE : संक्रमित मरीजों की संख्या हुई 417
मालूम हो कि कोरोना वायरस का संक्रमण 186 देशों में पहुंच गया है। दुनिया भर में तीन लाख तीस हजार से ज़्यादा लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हो चुकी है तो वहीं मरने वालों की संख्या 14, 600 हजार के पार हो गई है। अब तक इस बीमारी से करीब 98 हजार लोग पूरी तरह ठीक हो गए हैं।
दरअसल कोरोना संक्रमण रोकने के लिए जहां संक्रमण ज्यादा है उन देशों ने लॉकडाउन कर दिया है। इसकी वजह से दर्जनों देशों में कारोबार पूरी तरह ठप हो गया है, जिसकी वजह से मंदी की आशंका गहराने लगी है।
ये भी पढ़े : लॉकडाउन : क्या बंद और क्या रहेगा खुला

Loading...

न्यूजीलैंड में चार सप्ताह के लॉकडाउन की घोषणा की गई है, जिसकी वजह से वेलिंग्टन शेयर बाजार 9.3 फीसदी टूट गया।
हांगकांग का हैंगशेंग इंडेक्स करीब 3.7 फीसदी टूट गया और चीन का शंघाई इंडेक्स 2.5 फीसदी टूटा है। ताइवान के शेयर बाजार में भी 2.8 फीसदी की गिरावट आई है। सिंगापुर का शेयर बाजार तो 7.5 फीसदी टूट गया।
सुबह करीब 9.30 बजे सेंसेक्स के शेयरों की हालत

इसके पहले शुक्रवार को भी बाजार में उतार-चढ़ाव देखने को मिला था। भारतीय शेयर बाजार की शुरुआत भारी उतार-चढ़ाव के साथ हुई थी। शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 400 अंक से अधिक मजबूत हो गया। इसी तरह, निफ्टी में भी करीब 100 अंकों की तेजी रही, लेकिन कारोबार के 20 मिनट के भीतर बाजार ने बढ़त भी गंवा दी और सेंसेक्स-निफ्टी लाल निशान पर कारोबार करने लगे।
ये भी पढ़े : आखिर क्यों रूस कोरोना के बारे में फैला रहा है झूठ? 
 

loading...
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Loading...