कोई कन्फ्यूजन नहीं है, हम भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ लड़ रहे हैं : प्रियंका गांधी

लखनऊ: लोकसभा चुनाव 2019 के लिए उत्तर प्रदेश में चुनावी माहौल हर दिन दिलचस्प मोड़ ले रहा है. रविवार को ही कांग्रेस ने ऐलान किया था कि समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी व आरएलडी के लिए उनकी पार्टी सात सीटें छोड़ रही हैं ये वो सीटें हैं, जहां से अखिलेश यादव, मुलायम सिंह यादव, डिंपल यादव, मायावती या अजित सिंह व जयंत चौधरी चुनावी मैदान में उतरेंगे, महागठबंधन से आउट कांग्रेस की दरियादिली भी बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती को रास नहीं आ रही है. ऐसे में कांग्रेस जबरदस्ती सीट छोड़ने का भ्रम न फैलाए. उन्होंने साफ कह दिया है कि भारतीय जनता पार्टी को परास्त करने के लिए सपा-बसपा का गठबंधन काफी है, आपको बता दें कि मायावती के इस रुख का सपा ने भी समर्थन किया है, जिसपर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने दो टूक अंदाज में जवाब भी दिया है।
ये भी पढ़ें : कांग्रेस पार्टी के राज्यपाल ने किया गोवा में सरकार बनाने का दावा
सूत्रों के अनुसार प्रयागराज से वाराणसी तक बोट यात्रा कर रहीं प्रियंका गांधी ने कहा है कि हमारे अंदर किसी प्रकार का कोई कन्फ्यूजन नहीं है,  हम भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ लड़ रहे हैं. बता दें कि मायावती ने आयोजन में कहा है कि यूपी में सपा-बसपा और आरएलडी का गठबंधन है, ऐसे में कांग्रेस कोई भ्रम पैदा न करे, मायावती के इस बयान का समर्थन करते हुए सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी कांग्रेस को नसीहत दी है।
7 सीटों पर न लड़ने का कांग्रेस का फैसला
रविवार को कांग्रेस ने समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और राष्ट्रीय लोकदल के लिए सात सीटें छोड़ने का ऐलान किया था तभी बसपा सुप्रीमो का यह बयान कांग्रेस के उस ऐलान के बाद सामने आया था कांग्रेस इन सात सीटों पर अपने उम्मीदवार नहीं उतारेगी जहां से अखिलेश यादव, मायावती, मुलायम सिंह यादव, डिंपल यादव, चौधरी अजित सिंह व जयंत चौधरी चुनाव लड़ेंगे।
जानकारी के अनुसार बता दें कि कांग्रेस के इस ऑफर पर ही मायावती ने सख्त रुख अपनाया है उन्होंने तस्वीर बिल्कल साफ करते हुए कह दिया कि कांग्रेस से किसी भी प्रकार का गठबंधन व तालमेल नहीं है मायावती को समर्थन करते हुए सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी कांग्रेस को नसीहत दे दी है  अखिलेश ने ट्वीट किया, ‘यूपी में एसपी, बीएसपी और आरएलडी का गठबंधन भाजपा को हराने में सक्षम है।
ये भी पढ़ें : दुमदुमा घाट पर प्रियंका ने रोजगार के बहाने साधा मोदी सरकार पर निशाना 
इससे पहले मायावती ने ट्वीट कर लिखा, ‘बीएसपी एक बार फिर साफ तौर पर स्पष्ट कर देना चाहती है कि उत्तर प्रदेश सहित पूरे देश में कांग्रेस पार्टी से हमारा कोई भी किसी भी प्रकार का तालमेल व गठबंधन आदि बिल्कुल भी नहीं है. हमारे लोग कांग्रेस पार्टी द्वारा आये दिन फैलाये जा रहे किस्म-किस्म के भ्रम में कतई ना आयें इसके अलावा मायावती ने कांग्रेस को यूपी की सभी 80 सीटों पर चुनाव लड़ने की चुनौती भी दे दी. मायावती ने अपने ट्वीट में लिख दिया कि यूपी में हमारा गठबंधन अकेले बीजेपी को पराजित करने में पूरी तरह से सक्षम है कांग्रेस जबरदस्ती यूपी में गठबंधन के लिए 7 सीटें छोड़ने की भ्रान्ति ना फैलाये, उन्होंने कहा कि कांग्रेस यूपी में पूरी तरह आजाद है और वह सभी 80 सीटों पर उम्मीदवार उतारकर चुनाव लड़े।
यूपी लोकसभा चुनाव में सपा-बसपा और आरएलडी मिलकर चुनाव लड़ रही हैं. बसपा 38 और सपा 37 सीटों पर गठबंधन में चुनाव लड़ रही है. जबकि दो सीटें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (अमेठी) व उनकी मां सोनिया गांधी (रायबरेली) के लिए छोड़ी गई हैं. इसके अलावा बाकी बची तीन सीटें आरएलडी को दी गई हैं।
 

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button