केजीएमयू के आरएएलसी कोविड अस्‍पताल भेजें पॉजिटिव मरीजों को, ताकि दिक्‍कत न हो

-प्रवक्‍ता डॉ संदीप तिवारी ने सभी नियंत्रण कक्षों से की अपील  

Loading...

प्रो. संदीप तिवारी

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। किंग जॉर्ज चिकित्‍सा विश्‍वविद्यालय (केजीएमयू) के डालीगंज स्थित आरएएलसी भवन में बने केजीएमयू के नये कोविड हॉस्पिटल में कोविड मरीजों की भर्ती और इलाज बीती 11 सितम्‍बर से शुरू हो चुका है। यहां पर कोविड पॉजिटिव मरीज को सीधे भेजा जा सकता है।

यह जानकारी देते हुए संस्‍थान के प्रवक्‍ता प्रो संदीप तिवारी ने बताया कि मेरी मुख्‍य चिकित्‍सा अधिकारी के सभी नियंत्रण कक्षों (कंट्रोल रूम्‍स) से अपील है कि कोविड पॉजिटिव मरीजों को भर्ती के लिए इधर-उधर न भटकना पड़े, उन्‍हें दिक्‍कत न हो, इसके लिए पॉजिटिव मरीजों को सीधे आरएएलसी स्थित कोविड अस्‍पताल भेजें।

उन्‍होंने कहा कि अभी प्राय: ऐसा हो रहा है कि जब कोविड मरीज सीधे पुरानी बिल्डिंग में बने कोरोना वार्ड में पहुंच जाता है, और वहां अगर बेड खाली न हुआ तो उसे आरएएलसी स्थित कोविड अस्‍पताल भेजना पड़ता है, इसमें जहां मरीज को परेशानी होती है, वहीं उसे इलाज मिलने में भी देर होती है। दिक्‍कत न हो इसीलिए आरएएलसी स्थित कोविड अस्‍पताल में रिसीविंग एरिया बनाया गया है, जहां मरीज के पहुंचने पर उसे पुराने या नये कोविड अस्‍पताल में भर्ती की व्‍यवस्‍था की जा रही है।  

एक प्रश्‍न के उत्‍तर में उन्‍होंने बताया कि इमरजेंसी में आने वाले मरीजों की पुरानी व्‍यवस्‍था चल रही है, इसके अनुसार पहले मरीज होल्डिंग एरिया में रहता है, उसकी कोविड जांच करायी जाती है, अगर वह पॉजिटिव हुआ तो उसे पुरानी बिल्डिंग में बने कोरोना वार्ड में या आरएएलसी स्थित नये कोविड अस्‍पताल में भेज दिया जाता है। डॉ संदीप तिवारी ने बताया कि संस्‍थान द्वारा दोनों स्‍थानों पर कुल मिलाकर 500 बेड का अस्‍पताल कोविड रोगियों के लिए संचालित किया जा रहा है।

loading...
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Loading...