कीटनाशकों के छिड़काव से कोरोना तो खत्म नहीं होता लेकिन …

जुबिली न्यूज़ डेस्क
नई दिल्ली. कोरोना वायरस से निबटने के लिए सड़कों और फुटपाथों पर किये जा रहे कीटनाशकों के छिड़काव को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने बहुत खतरनाक बताया है. WHO ने कहा है कि खुली जगहों पर कीटनाशकों का छिड़काव करने से कोरोना वायरस तो खत्म नहीं होता है लेकिन इंसानी ज़िन्दगी के लिए बेहद खतरनाक होता है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि सड़कों पर कीटनाशकों का जैसे ही छिड़काव होता है वैसे ही धूल और गंदगी के सम्पर्क में आकर यह अपनी ताकत खो देता है लेकिन अगर किसी इंसान पर पड़ जाता है तो उसे नुक्सान पहुंचा देता है.
यह भी पढ़ें : बेबसी : पिता ने बांस,बर्तन-रस्सी के सहारे बच्चों को कंधे पर लटकाया और निकल पड़ा
यह भी पढ़ें : इस लेख की हेडिंग आप बनाइये
यह भी पढ़ें : गरीब की याददाश्त बहुत तेज़ होती है सरकार
कीटाणु नाशकों का इस्तेमाल जिस तरह से ड्रोन इत्यादि की मदद से किया जा रहा है वह कोरोना के वायरस को मार पाने में तो सक्षम नहीं है लेकिन लोगों की आँखों और त्वचा को ज़रूर नुक्सान पहुंचा सकता है. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि कीटाणु नाशक कपड़े में भिगोकर जहाँ पोछा जाता है वह जगह तो कीटाणु मुक्त हो जाती है लेकिन अगर उसका स्प्रे कर दिया जाए तो उसका कोई फायदा नहीं होता है.

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button