किया जाएगा गूगल से समझौता, मिलेगी बेहतर शौचालय की जानकारी…

नई दिल्ली : आने वाले समय में नोएडा के शौचालय की रेटिंग गूगल मैप पर नजर आएगी। इसके जरिए लोग बेहतर शौचालय को चुन सकेंगे। इस सुविधा को शुरू करने के लिए नोएडा प्राधिकरण ने गुगल से टाइअप करने की प्रक्रिया पर काम शुरू कर दिया है।नोएडा प्राधिकरण के ओएसडी राजेश सिंह ने बताया कि गूगल की रेटिंग के अलावा प्राधिकरण भी अपने स्तर से इनकी रेटिंग कराएगा। हर शौचालय के बारे में सफाई व सुविधा के बिंदुओं पर लोगों के फीडबैक लेने के लिए तीन तरह के बटन लगाए जाएंगे। इनमें खराब, अच्छा और बहुत अच्छा विकल्प लोगों को मिलेंगे। इनमें से लोग जिस बटन का प्रयोग करेंगे उसका एक डाटा तैयार होता जाएगा। इस हिसाब से बेहतर शौचालय की रेटिंग तैयार हो जाएगी। उन्होंने बताया कि शौचालय को शुरू करने के बाद उससे संबंधित सभी सुविधाओं को बेहतर बनाने रखने के लिए भी टेंडर जारी कर दिए गए हैं।
नोएडा प्राधिकरण ने मंगलवार से शहर को खुले में शौच मुक्त होने का दावा पेश कर दिया है। इसके बाद 15 दिन तक लोगों से इस बारे में आपत्ति व सुझाव मांगे जाएंगे। सुझाव के हिसाब से अगर कहीं जरूरत पड़ी तो प्राधिकरण वहां शौचालय बनाएगा। इसके बाद नोएडा प्राधिकरण ने रिपोर्ट प्रदेश सरकार और वहां से भारत सरकार को जाएगी। भारत सरकार की ओर से टीम जांच करने आएगी। टीम तय करेगी कि नोएडा खुले में शौच मुक्त हुआ या नहीं। इस प्रक्रिया में करीब 2 महीने का समय लगेगा। मंगलवार को इस प्रक्रिया के लिए केंद्रीय मंत्री व विधायक के साथ नोएडा प्राधिकरण के सीईओ ने सामुदायिक शौचालयों का शुभारंभ किया। पहले चरण में 42 शौचालयों को खोला गया।खुले में शौच मुक्त करने का दावा करने से पहले नोएडा प्राधिकरण के आला अधिकारियों ने सेक्टर-6 इंदिरा गांधी कला केंद् में महात्मा गांधी व लाल बहादुर शास्त्री के चित्र पर पुष्प अर्पित किए। साथ ही उनके द्वारा किए गए कार्यो को याद किया। वहीं शहर को साफ सुथरा बनाए रखने के लिए संकल्प लिया।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button