कश्‍मीर पर फोकस करते हुए नवाज ने कहा–भाड़ में जाए पाकिस्‍तान; भारत बोला-यहीं मारुंगा

कश्‍मीर पर फोकस करते हुए नवाज ने कहा–भाड़ में जाए पाकिस्‍तान; भारत बोला-यहीं मारुंगा.. भारत को घेरने के लिए पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने अपना सारा फोकस कश्‍मीर पर कर लिया है। मुल्‍क की दिक्‍कतों पर उनका कोई ध्‍यान नहीं है।

‘कश्‍मीर’ पर फोकस करते हुए नवाज ने कहा– भाड़ में जाए पाकिस्‍तान; भारत बोला-यहीं मारुंगा

यह भी पढ़ें:- मोदी सरकार ने जनता को दी बड़ी राहत, खत्म हुआ नोटबंदी का झंझट

बहुत पुरानी कहावत है कि जब गीदड़ की मौत आती है तो वो शहर की ओर भागता है। ऐसा ही हाल इन दिनों कुछ पाकिस्‍तान का भी देखने को मिल रहा है। पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने पूरे मुल्‍क से अपना ध्‍यान हटाकर सिर्फ कश्‍मीर पर फोकस कर लिया है। जबकि अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर हर जगह बेइज्‍जती होने के बाद भी नवाज शरीफ को उम्‍मीद है कि इस मसले पर उनकी सुनवाई होगी। वहीं दूसरी ओर पाकिस्‍तानी मीडिया ही कह रह रहा है कि नवाज को सलाह गलत दी जा रही है। इस वक्‍त वो इतने परेशान हैं कि उन्‍हें सही और गलत में फर्क ही नजर नहीं आ रहा है। जिसका फायदा कुछ चंद लोग उठा रहे हैं और पाकिस्‍तान की बरबादी का प्‍लॉनिंग खुद नवाज शरीफ से ही करा रहे हैं।

यह भी पढ़ें:- जन धन खाता में जीरो बैलेंस वाले को माला-माल करेगी मोदी सरकार

दरसअल, पाकिस्‍तानी मीडिया के मुताबिक इन दिनों पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ भारत को निपटाने के लिए अपना सारा फोकस कश्‍मीर पर कर दिया है। पाकिस्‍तानी सरकार ने इस मामले पर एक उच्च-स्तरीय कमेटी का गठन किया है। ये कमेटी ना सिर्फ कश्मीर में भारत द्वारा किए जा रहे कथित मानवाधिकारों के उल्लंघनों के मामलों को अंतरराष्ट्रीय स्‍तर पर रखेगी बल्कि विदेशों में रह रहे हिंदुस्‍तानी कश्मीरियों से भी संपर्क साधेगी। इस कमेटी की मंशा है कि वो भारत में भी उन लोगों को अपने पक्ष में करेंगे जो मोदी की नीतियों से खुश नहीं हैं। जाहिर पाकिस्‍तान चाहता है कि वो हिंदुस्‍तान के उन लोगों का फायदा कश्‍मीर के लिए उठा सकें जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विरोधी हैं।

यह भी पढ़ें:-  50 बैंक मैनेजरों के घर छापा; 10 दिन में पूरा हो जाएगा नोटबदली का काम

बताया जा रहा है कि इसके लिए पाकिस्तान सोशल मीडिया का इस्तेमाल करेगी। सोशल मीडिया के जरिए कश्मीर मसले को दुनिया के सामने रखने की कोशिश की जाएगी। पाकिस्तान के प्रमुख अखबार द डॉन में छपी खबर के मुताबिक पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने इसके लिए बाकायदा एक टीम का गठन भी कर दिया है। इस कमेटी में रक्षा मंत्रालय, आतंरिक और सूचना मंत्रालय, सैन्य ऑपरेशन्स निदेशालय, ISI और खुफिया विभाग के वरिष्ठ अफसरों को शामिल किया गया है। अभी मंगलवार को ही सरताज अजीज ने पाकिस्तानी संसद को बताया था कि ये कमेटी व्यावहारिक और दीर्घकालिक कश्मीर नीति तैयार करेगी। पाकिस्‍तान में सरताज अजीज विदेशी मामलों में वहां के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के सलाहकार हैं।

यह भी पढ़ें:-  अब खून के आंसू रोएगा पाकिस्‍तान; भारतीय सेना ने खाई सैनिक के कटे सिर की ‘कसम’

सरताज अजीज का कहना है कि इस कमेटी में अगर सदस्‍य बढ़ाने की जरुरत पड़ी तो उसे भी बढ़ा दिया जाएगा। हालांकि पाकिस्‍तानी संसद इससे पहले इस मामले में एक टॉस्‍क फोर्स के गठन को सिफारिश कर चुकी है। जिसमें संसद के दोनों सदनों की रक्षा और विदेशी मामलों की कमेटी के अध्यक्षों को भी इसमें शामिल करने की बात कही गई थी। लेकिन, अब जिस कमेटी का गठन किया गया है वो नियमित तौर पर इन दोनों अध्‍यक्षों को ब्रीफ करेगी। वहीं दूसरी ओर पाकिस्‍तान के भीतर ही ये कहा जा रहा है कि बेशक नवाज शरीफ कश्‍मीर के मसले को पकड़े रहें लेकिन, उन्‍हें पाकिस्‍तान के लिए भी तो कुछ करना चाहिए। सिर्फ कश्‍मीर मुद्दे नो तो पाकिस्‍तान का भला हो सकता है और ना ही पाकिस्‍तानियों का। वैसे भी भारत पहले ही ये बात साफ कर चुका है कि कश्‍मीर पूरा उसका है। पाकिस्‍तान जिसका ख्‍याब ना देखे तो वहीं बेहतर होगा।  

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button