कंगना के मुद्दे पर साधु-संत भी दो फाड़

जुबिली न्यूज़ डेस्क
कंगना रनौत और शिवसेना के बीच चल रहे विवाद में एक नया मोड़ आ गया है। अभी तक इस मुद्दे में जहां बॉलीवुड में दो फाड़ नजर आ रहा था वहीं अब इस विवाद की लपटे अयोध्या के साधु-संतों तक पहुंच गई हैं।
सबसे ज्यादा चौंकाने वाली ये बात है कि, राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के समर्थन में उतर आए हैं। चम्पत राय ने उद्धव ठाकरे का समर्थन ही नहीं किया बल्कि यह तक कह डाला कि, किसकी मां ने दूध पिलाया जो अयोध्या में उन्हें घुसने से रोक सके।
यह भी पढ़ें : दिल्ली दंगे : पुलिस पर क्यों उठ रहा सवाल
गौरतलब है कि इस मामले में हाल ही में अयोध्या के साधु-संतों ने उद्धव ठाकरे का विरोध किया था।अयोध्या के संतों ने उद्धव के अयोध्या आने पर विरोध की चेतावनी दी थी। अयोध्या के संतो-महंतों ने उद्धव के अयोध्या में प्रवेश पर रोक भी लगा दी है। हालांकि अब राम मंदिर ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय उनके साथ खड़े दिख रहे हैं।
इससे पहले इस विवाद को लेकर बॉलीवुड में दो गुट बने हुए थे वहीं अब साधु-संत भी दो गुट में बंटते नजर आ रहे हैं।
क्या है विवाद
बता दें कि सुशांत सिंह की मौत की जांच को लेकर शिवसेना और कंगना रनौत के बीच तनातनी काफी बढ़ गई है। शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत से विवाद के बाद कंगना ने कहा था कि वह मुंबई आ रही हैं और जिसमें हिम्मत है उन्हें रोक ले। इन सबके बीच बीएमसी ने उनके दफ्तर को ध्वस्त कर दिया था। जिसके बाद कंगना के समर्थन में उतरे अयोध्या में संतों ने उद्धव ठाकरे का विरोध शुरू कर दिया है।
संतों और विश्व हिंदू परिषद ने घोषणा की है कि उद्धव अयोध्या न आएं। यहां आने पर उनका स्वागत नहीं होगा बल्कि उन्हें विरोध झेलना पड़ेगा। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने भी कंगना रनौत को देश की बेटी बताया। उन्होंने भी उद्धव ठाकरे को अयोध्या न आने की धमकी दे डाली।
यह भी पढ़ें : अब UPSSF भी कसेगी अपराधियों पर शिंकजा
यह भी पढ़ें : यूपी : सरकारी नौकरी के नियमों में बदलाव का हो रहा विरोध

Loading...
loading...
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Loading...