उप्र में कोरोना राज्य आपदा घोषित करने के बाद 272 करोड़ रुपये की सहायता राशि जारी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस को राज्य आपदा घोषित करने के बाद योगी सरकार ने मंगलवार देर रात 272.25 करोड़ रुपये की सहायता राशि भी जारी कर दी। राज्य सरकार ने मंगलवार को दिन में ही कोरोना को राज्य आपदा घोषित किया था।
प्रदेश के राहत आयुक्त संजय गोयल ने बताया कि सरकार ने कोरोना के संक्रमण से उपजी परिस्थितियों से निपटने के लिए राज्य आपदा मोचक निधि से 272.25 करोड़ रुपये जारी किये हैं। गोयल ने बताया कि इस महामारी के प्रकोप से प्रदेश में व्यावसायिक गतिविधियां प्रभावित होने के दृष्टिगत दैनिक रूप से काम करने वाले मजदूरों आदि के भरण-पोषण सहायता उपलब्ध कराने के लिए विभिन्न जिलों को 235 करोड़ रुपये जारी किये गए हैं। उन्होंने बताया कि इस धनराशि का उपयोग जिलाधिकारी पात्र परिवारों को निःशुल्क खाद्य सामग्री बांटने और पात्र व्यक्तियों को हर महीने 1000 रुपये वितरण के लिए किया जाएगा। राहत आयुक्त ने बताया कि जिला स्तर पर अति आवश्यक चिकित्सीय सामग्री और उपकरण आदि खरीदने के लिए सभी जिलों को 17.25 करोड़ रुपये आवंटित किये गये हैं।
इसके अलावा प्रदेश के छह जिलों, मेरठ, आगरा, कानपुर, झांसी, प्रयागराज और गोरखपुर में स्थापित मेडिकल कॉलेजों में से प्रत्येक को दो करोड़ रुपये दिये गए हैं। इसी तरह 12 जिलों, अंबेडकरनगर, आजमगढ़, सहारनपुर, कन्नौज, जालौन, बांदा, बदायूं, अयोध्या, बस्ती, बहराइच, फिरोजाबाद और शाहजहांपुर के मेडिकल कॉलेजों में से प्रत्येक को 50 लाख रुपये और लखनऊ को दो करोड़ रुपये आवंटित किये गए हैं। यह धनराशि मेडिकल कॉलेजों में आवश्यक चिकित्सा सामग्री व उपकरणों आदि खरीदने और क्वारंटाइन वार्ड की स्थापना के लिए दी गई है।
उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार ने मंगलवार को दिन में ही कोरोना वायरस को एक माह के लिए आपदा घोषित कर दिया था। प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल की स्वीकृति के बाद शासन ने इस संबंध में अधिसूचना भी जारी कर दी गई थी। मंगलवार को कोरोना वायरस के चार और मरीज मिलने के बाद प्रदेश में अब संक्रमित रोगियों की कुल संख्या 37 हो गयी है।

Loading...
loading...
Loading...