उप्र निवासियों ने कोरोना से लड़ रहे लोगों से दिखाई एकजुटता, योगी ने भी बजाया घंटा

लखनऊ: तेजी से पांव पसार रहे कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अपील उत्तर प्रदेश में कारगर साबित हुई। यहां पर लोगों ने पहले जनता कर्फ्यू का पालन किया और बाद में शाम पांच बजते ही थाली, घंटी, घंटा, ताली और शंख बजाकर कोरोना के खिलाफ अभियान में अपना योगदान दिया।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर में घंटा बजाकर प्रधानमंत्री के इस अभियान को आगे बढ़ाया। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य लखनऊ में कर्मचारियों के साथ शंख बजाकर इस अभियान का हिस्सा बनें। गन्ना मंत्री सुरेश राणा ने भी अपने परिवार के साथ शंख, घंटा, घड़ियाल बजाकर प्रधानमंत्री मोदी के अभियान का समर्थन किया।
ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने भी पांच बजे अपने पूरे स्टाफ के साथ लखनऊ आवास पर कोरोना के खिलाफ लड़ाई के योद्धाओं का घंटी व ताली बजाकर अभिनंदन किया। प्रधानमंत्री मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में बड़े, बूढ़े, महिलाएं व बच्चे पूरे उत्साह के साथ ही पांच बजे के पहले ही अपनी छतों, बालकनी, खिड़की पर आकर थाली-ताली बजाने लगे थे।
प्रदेष के विभन्न शहरों की कालोनियों में शाम होते ही लोग छतों और बालकनी के अलावा अपने गेट पर निकले और उत्साहपूर्वक घंटियों और तालियों के साथ ही थाली भी बजाकर कोरोना वायरस से लड़ने की अपनी वचनबद्धता दोहराई और उत्साहपूर्वक लोगों से इस लड़ाई में संघर्ष की अपील भी की।
प्रदेश में चंदौली से गाजियाबाद तथा झांसी से लेकर उत्तराखंड के बार्डर तक जनता कर्फ्यू बेहद सफल रहा। राजधानी लखनऊ में आमतौर पर व्यस्त रहने वाले हजरतगंज, आलमबाग, गोमती नगर, अलीगंज और अमीनाबाद जैसे इलाकों में दुकानें पूरी तरह बंद रहीं और सड़कों पर सिवाय पुलिस बलों के वाहनों के अन्य वाहन नजर नहीं आए। गोरखपुर, रायबरेली, आजमगढ़, गोंडा, बहराइच, कानपुर, बरेली और झांसी सहित तमाम जिलों में भी जनता कर्फ्यू पूरी तरह से सफल रहा।

Loading...
loading...
Loading...