उप्र : चौबीस घंटे में मिले कोरोना के 4,600 नए मरीज, 50 हजार से ज्‍यादा एक्टिव मामले

लखनऊ। प्रदेश में कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या अब 75 जनपदों में 50,426 हो गई है। अब तक 92,526 लोग इलाज के बाद पूरी तरह ठीक होने के बाद घर भेजे जा चुके हैं। बीते चौबीस घंटे में संक्रमण के 4,600 नए मामले सामने आए हैं। वहीं अब तक 2,335 लोगों की इस संक्रमण से मौत हो चुकी है।

गुरुवार को कुल 96,106 कोरोना नमूनों की हुई जांच

प्रदेश के अपर मुख्य सचिव-चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने शुक्रवार को बताया कि राज्य की विभिन्न प्रयोगशालाओं में गुरुवार को कुल 96,106 कोरोना नमूनों की जांच की गई।  इसके साथ ही राज्य में अब तक कुल 35,98,210 कोरोना नमूनों की जांच हो चुकी है। उत्तर प्रदेश प्रतिदिन की जाने वाली कोरोना जांच के मामले में कई दिनों से देश में अव्वल बना हुआ है। वहीं अब कुल जांच के मामलें में भी देश में पहले स्थान पर आ गया है।

2,605 पूल के जरिए 13,590 नमूनों की हुई जांच

उन्होंने बताया कि गुरुवार को 2,605 पूल के जरिए 13,590 नमूनों की जांच की गई। इनमें 2,492 पूल के जरिए प्रति पूल पांच-पांच नमूनों की जांच की गई, जिसमें 424 पूल की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। वहीं 113 पूल के जरिए प्रति पूल दस-दस नमूनों की जांच की गई, जिसमें 15 पूल की रिपोर्ट पॉजिटिव आई।

 8.67 करोड़ लोगों के बीच पहुंची स्वास्थ्य टीमें

स्वास्थ्य विभाग की टीमें लगातार विभिन्न क्षेत्रों में लोगों के बीच पहुंचकर सर्वेश्रण कर रही हैं। अभी तक 56,215 इलाकों में 2,46,243 टीमों ने 1,72,34,446 करोड़ घरों का सर्वेक्षण किया है। इसके तहत 8,67,39,334 लोगों की मेडिकल स्क्रीनिंग की गई है।

23,961 लोग होम आइसोलेशन में करा रहे इलाज

उन्होंने बताया कि प्रदेश में वर्तमान में 23,961 लोग होम आइसोलेशन यानि घर पर रहकर इलाज की सुविधा का लाभ ले रहे हैं। अब तक 46,096 लोग होम आइसोलेशन में अपना इलाज करा चुके हैं। इनमें 22,135 लोगों के इलाज का समय पूरा होने पर उन्हें डिस्चार्ज घोषित कर दिया गया है। वहीं 1,613 लोग निजी अस्पतालों, 186 मरीज एल-1 प्लस की सेमिपेड फैसिलिटी और शेष राज्य सरकार की एल-1, एल-2 व एल-3 की व्यवस्था के तहत विभिन्न सरकारी अस्पतालों में भर्ती हैं।

कोरोना मामलों में मृत्यु दर घटकर हुई 1.6 प्रतिशत

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य ने बताया कि कोरोना को लेकर केस फैटेलिटी रेट (सीएफआर) यानी मामलों में मृत्यु दर की बात करें तो अब यह घटकर 1.6 प्रतिशत हो गई है। एक महीने पहले यह लगभग 03 प्रतिशत थी। लेकिन, अब इसमें बहुत ज्यादा सुधार हुआ है इस तरह मृत्युदर में काफी सुधार देखने को मिला है।

20-40 आयु वर्ग के लोगों में सबसे अधिक संक्रमण

उन्होंने बताया कि वहीं कोरोना संक्रमण के कुल मामलों में अभी भी पुरुषों का प्रतिशत महिलाओं की तुलना में दो गुना से ज्यादा है। अभी तक 70.22 प्रतिशत पुरुष और 29.78 प्रतिशत महिलाओं में संक्रमण पाया गया है। इसी तरह 20-40 आयु वर्ग के लोगों में अभी भी सबसे अधिक संक्रमण देखने को मिल रहा है। इस आयु वर्ग के 49.34 प्रतिशत लोग संक्रमित पाये गये हैं। जबकि 60 से अधिक उम्र वालों में महज 8.34 प्रतिशत लोग संक्रमित पाए गए।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button