उप्र के सभी जिलों में खुलेंगे कम्युनिटी किचन, हर जरूरतमंद को मिलेगा खाना

 
-मुख्यमंत्री योगी ने बरेली की स्प्रे वाली घटना को बताया अशिष्ट और अभद्र
-उप्र में 100 के पार पहुंचा कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों का आंकड़ा
लखनऊ। लॉकडाउन के दौरान कोई भी जरूरतमंद और गरीब भूखा न रहे, इसके लिए कम्युनिटी किचन की मौजूदा संख्या से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सन्तुष्ट नहीं है। इसलिए उन्होंने मंगलवार को उच्चस्तरीय समीक्षा में इसकी संख्या तत्काल बढ़ाये जाने के निर्देश दिए हैं। अब हर जिले में कम्युनिटी किचन खोले जायेंगे। वहीं राज्य में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की संख्या 101 पहुंचने के बीच दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज मामले को लेकर सरकार की ओर से लोगों से और सतर्कता बरने की अपील की गई है।
इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने बरेली की स्प्रे वाली घटना को अशिष्ट और अभद्र बताते हुए जिम्मेदार अधिकारियों के विरुद्ध कार्रवाई करने और ऐसी घटना की पुनरावृत्ति न होने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि हमारे लिए सभी नागरिक सम्माननीय हैं। सभी का व्यवस्थित मेडिकल चेक-अप किया जाए। बरेली में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए श्रमिकों को केमिकल से नहलाने की खबर वायरल हुई थी। इसके बादर सरका ने साफ किया कि यह केमिकल नहीं था। कर्मचारियों ने स्प्रे कर दिया था। सामान्य तौर पर उन्हें ऐसा नहीं करना था। हालांकि अंतरराष्ट्रीय मानकों के मुताबिक आंखें बंद कराते हुए स्प्रे किया जाता है। फिर भी ऐसा करने वाले कर्मचारियों पर कार्रवाई होगी।
अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री की समीक्षा में यह तथ्य आया है कि कुछ जनपदों में अभी कम्युनिटी किचन पर्याप्त मात्रा में नहीं स्थापित किए गए हैं, इसके लिए उन्होंने कृषि उत्पादन आयुक्त की कमेटी को निर्देश दिए हैं। इसमें कम्युनिटी किचन हर हाल में, हर जनपद में अनिवार्य रूप से शुरू करने को कहा गया है।
प्रत्येक जिले में सार्वजनिक स्थानों पर लगेगी रेट लिस्ट
लॉकडाउन में आम जनता को सभी आवश्यक सुविधाएं वाजिब दामों पर मिलें इसके लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ने निर्देश दिए हैं कि प्रत्येक जनपद में सार्वजनिक स्थानों पर जो रेट लिस्ट जिलाधिकारी ने निर्धारित की है, उसे प्रदर्शित किया जाए। प्रत्येक जिलाधिकारी को इस बाबत निर्देश दे दिए गए हैं। आज शाम तक इसकी उच्चस्तरीय समीक्षा भी करके यह सुनिश्चित किया जाएगा ताकि रेट लिस्ट जनपद के सभी सार्वजनिक स्थानों पर प्रचारित हो सके।
मुख्य सचिव ने कई राज्यों से की उप्र के नागरिकों को लेकर बात
वहीं मुख्य सचिव आरके तिवारी ने गुजरात, केरल, हरियाणा, कर्नाटक, तमिलनाडु राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ वहां उत्तर प्रदेश के निवासियों को सभी आवश्यक सुविधाएं मुहैया कराने को लेकर वार्ता भी की है। दरअसल मुख्यमंत्री योगी की ओर से सभी प्रदेश के मुख्यमंत्रियों को इस सम्बन्ध में पत्र भी लिखा गया था।
एम्बुलेंसकर्मियों को तत्काल किया जाए भुगतान
मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए हैं कि एम्बुलेंस-102 और एम्बुलेंस-108 से जुड़े ड्राइवर एवं कर्मचारियों की तनख्वाह या मानदेय यदि शेष हैं तो उसका भी तत्काल भुगतान किया जाए। कुछ एम्बुलेंस कर्मियों की हड़ताल की खबरों को लेकर सरकार की ओर से स्प्ष्ट किया गया है कि दो जनपदों को छोड़कर ऐसी समस्या कहीं नहीं आयी है, और वहां भी काम शुरू हो गया है, सभी को यह बताया गया है कि उनके हितों का पूरा ख्याल रखा जा रहा है, आगे भी रखा जाएगा। यह आपात स्थिति है, इसमें हड़ताल करना भी गैरकानूनी है। एम्बुलेंस कर्मियों को ये भी अवगत करा दिया गया है कि 50 लाख का जो बीमा है उस दायरे में वह भी आते हैं। सरकार ने ये बीमा राशि आपात सेवा में जुड़े हर कर्मचारी के लिए लागू की है, चाहे वह एम्बुलेंस कर्मीं हों या सफाईकर्मी।
सभी जिलों में सीएमओ के साथ वरिष्ठ अफसर की होगी तैनाती
मुख्यमंत्री ने प्रमुख सचिव, चिकित्सा को निर्देशित किया है कि सभी जनपदों में मुख्य चिकित्सा अधिकारी के साथ सीनियर ज्वाइंट डायरेक्टर स्तर के एक अधिकारी को भी तैनात किया जाए। ताकि वे समुचित प्रशिक्षण, कंट्रोल रूम की माॅनिटरिंग, ट्रैकिंग की व्यवस्था और हेल्थ इक्विपमेंट, पीपीई किट, मास्क की सप्लाई चेन को प्रत्येक स्तर तक सुनिश्चित कर सकें।
दानदाताओं को अभिवादन करेगा मुख्यमंत्री कार्यालय
मुख्यमंत्री राहत कोष (चीफ मिनिस्टर्स स्ट्रेस रिलीफ फंड) का खाता सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया में उपलब्ध है। जिसका अकाउंट नम्बर-1378820696 और आईएफएससी कोड सीबीआईएन 0281571 है। मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से आह्वान किया गया है कि लोग रिलीफ फंड में अधिक से अधिक योगदान दें। ऐसे दानदाताओं को सूचित करते हुए उनका अभिवादन किया जाएगा।
धारा 188 में 18000 से अधिक के खिलाफ कार्रवाई
गृह विभाग की ओर से आज मंगलवार दोपहर 2 बजे तक धारा-188 के अंतर्गत 6,079 एफआईआर तथा 18,950 लोगों के विरुद्ध कार्रवाई की गई हैं। वहीं इसी एक्ट में 46 एफआईआर दर्ज की गई हैं और 64 लोगों के विरुद्ध कार्रवाई की गई है। प्रत्येक जनपद में 5,250 बैरियर स्थापित किए गए हैं। अब तक 7,51,600 गाड़ियों को चेक करके 1,50,734 गाड़ियों का चालान किया गया है। 12,213 गाड़ियों को सीज करते हुए 3.18 करोड़ की धनराशि वसूल की गई है।
34 लाख लीटर से अधिक की दूध खरीद
अब तक फल-सब्जी के लिए 11,756 मोबाइल वैन और 23,838 हाथ-गाड़ियों की व्यवस्था कर दी गई है। कुल 35,594 वाहनों से फल-सब्जी का वितरण किया गया। आज 34 लाख 22 हजार लीटर दूध की खरीद की गई है। 22 लाख 91 हजार लीटर दूध का वितरण 13,842 गाड़ियों के माध्यम से सुनिश्चित किया गया है। 16,410 किराना स्टोर्स और 39,952 होम डिलीवरी करने वालों के माध्यम से किराना का वितरण किया गया है। कल 1,291 धार्मिक, स्वैच्छिक संगठनों के माध्यम से कम्युनिटी किचन स्थापित करके 4,62,000 पैकेट्स वितरित किए गए। यह प्रतिदिन बढ़ रहे हैं।
मुख्यमंत्री हेल्पलाइन पर 4000 से अधिक ​आपूर्ति की शिकायतें
मुख्यमंत्री हेल्पलाइन 1076 पर आने वाली बहुत सारी शिकायतों का निस्तारण कर दिया गया है। लगभग 4,000 से अधिक जो आपूर्ति की शिकायतें प्राप्त हुई हैं, उनका निस्तारण किया जा चुका है।
लॉकडाउन में 3930 यूनिटों ने किया मजदूरों का भुगतान
आईआईडीसी की अध्यक्षता वाली कमिटी ने 11,071 इकाइयों से सम्पर्क स्थापित करते हुए लगभग 9,500 इकाइयों से कामगारों को धनराशि दिए जाने पर सहमति बनवाई है। 4,500 यूनिट्स को इसके माध्यम से भरण-पोषण की व्यवस्था कर दी गई है। लाॅकडाउन की अवधि में मजदूरों का भुगतान 3,930 यूनिट्स द्वारा कर दिया गया है। लाॅकडाउन में जो इकाइयां चालू होनी चाहिए थीं, उनकी संख्या 2,485 है। अभी तक 2,366 इकाइयां चालू हो गई हैं।
27 यूनिटों में मास्क निर्माण शुरू
श्रम विभाग के माध्यम से 9,63,000 लोग 1000 की धनराशि से लाभान्वित हुए हैं। 96.30 करोड़ की धनराशि वितरित की जा चुकी है। पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट मास्क का निर्माण 30 इकाइयों में से 27 यूनिट्स में शुरू हो गया है। इनका क्रय और वितरण, स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से जनपद और प्रदेश स्तर पर किया जाएगा
वाराणसी के जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक की प्रशंसा की
मुख्यमंत्री ने प्रत्येक जनपद में आटा चक्कियों की समीक्षा के लिए आईआईडीसी की अध्यक्षता में बनी कमिटी को निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही मुनाफाखोरी के विरुद्ध ज्यादा सख्ती से कार्रवाई करने को कहा है। उन्होंने वाराणसी के जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा मुनाफाखोरों के विरुद्ध की गई कार्रवाई की प्रशंसा भी की। इन दोनों अधिकारियों ने सोमवार को आम आदमी के रुप में दुकानों में जाकर स्वयं हकीकत परखी थी और अधिक दाम वसूलने पर मुनाफाखोरों के खिलाफ कार्रवाई की थी।
उप्र में 100 के पार पहुंचा कोरोना वायर संक्रमित मरीजों का आंकड़ा
प्रमुख सचिव, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में अब कोराना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 101 पहुंच चुकी है। इनमें से 14 ठीक होने पर डिस्चार्ज होह चुके हैं। अभी तक 15 जनपदोंं से कोरोना संक्रमण के मामले सामने आये हैं। कुल 101 मामलों पर नजर डालें तो इसमें दो क्लस्टर सामने आये हैं। एक क्लस्टर गौतमबुद्धनगर और एक क्लस्टर मेरठ का है। कुल मामलों में पचास प्रतिशत से अधिक इन दो क्लस्टर से सम्बन्धित है।
उन्होंने कहा कि अब संख्या 100 के पार जाने पर हमारी जिम्मेदारी और बड़ी हो गई है। हम जितना ज्यादा हाथ धोने और सामाजिक दूरी बनाये रखने का पालन करेंगे, यह हमारे के लिए उतना सुरक्षित होगा। सतर्कता और सावधानी से ही 100 के बाद कोरोना के मामलों में कमी लायी जा सकती है।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button