उत्तर प्रदेश में अगले 3 दिनों तक लॉकडाउन, मजदूरों और गरीबों के खाते में भेजे जा रहे एक हजार रुपये

लखनऊ. यूपी के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि 25 से 27 मार्च तक सभी 75 जिलों में लॉकडाउन लागू किया जाएगा. 

उल्‍ले यूपी
में लॉकडाउन के दौरान जिन मजदूरों और गरीबों के सामने रोजी-रोटी का संकट आ
गया है, उनके लिए योगी सरकार ने राहत पहुंचाना शुरू कर दिया है. खुद यूपी
के सीएम योगी आदित्यनाथ ने ये जानकारी दी है. इन मजदूरों योगी सरकार ने 1
हजार रूपये ट्रांसफर किए हैं. खनीय है कि पहले 25 मार्च तक 18 जिलों में
लॉकडाउन की घोषणा की गई थी. उसको बढ़ाकर अब प्रदेश के सभी जिलों में लागू
करने का फैसला लिया गया है. इस तरह से 25 मार्च से तीन दिनों तक पूरे
प्रदेश में लॉक डाउन रहेगा. इसके साथ ही लॉकडाउन की स्थिति में कालाबाजारी
से निपटने के लिए कहा कि जरूरत के सामान पर ज्‍यादा पैसे लिए गए तो
कार्रवाई होगी. राज्‍य परिवहन की एक भी बस न चलें, डीएम सुनिश्चित करें.
एंबुलेंस, आवश्‍यक सामान लाने वाली वाहनों को छूट मिलेगी.

सीएम योगी ने
अधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये बातचीत करते हुए ये
निर्देश दिए. इसके साथ ही कहा कि जरूरत पड़ने पर संवेदनशील इलाकों में
कर्फ्यू लगाया जा सकता है. यूपी की सीमाएं पूरी तरह सील कर दी गई हैं.
उन्‍होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि यूपी में एक साथ 2 से ज्‍यादा लोग
खड़े नहीं हों. सब्‍जी मंडी, डेयरी की दुकान पर भीड़ न लगाएं. जो लोग जहां
हैं, वहीं रहें, दफ्तर बंद होने की वजह से गांव नहीं लौटें. एक जगह पर 2
से अधिक लोग एकत्र न हों. लोगों की मदद के लिए वालेंटियर्स तैयार किए
जाएंगे. यूपी में अब तक कोरोना के 34 पॉजिटिव केस सामने आए हैं.

देशव्यापी
लॉकडाउन के बीच सबसे बड़ा संकट मजदूरों और गरीबों के सामने खड़ा हो गया है.
उनके लिए पैसे कमाने के सभी साधन बंद हो गए हैं. हालांकि राज्य सरकारें
इसको ध्यान में रखते हुए कदम उठा रही है.

दरअसल यूपी
सरकार ने आज से नर सेवा, नारायण सेवा योजना शुरू की है. इस योजना में रोज़
कमाने और खाने वाले लोगों को हर महीने 1000 रूपये की मदद की जाएगी.

बता दें कि
इससे पहले योगी सरकार में मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा था कि एक कमेटी का
गठन किया गया है, जो कि राज्य में गरीबों को आर्थिक मदद पहुंचाने का काम
करेगी. ये पैसा सीधे गरीबों के खाते में RTGS के जरिए डाल दिया जाएगा.

वहीं सीएम ने
ऐलान किया था कि राज्य में 15 लाख दिहाड़ी मजदूरों और 20.37 लाख निर्माण
श्रमिकों को उनकी दैनिक जरूरतों को पूरा करने में मदद करने के लिए 1000
रुपये प्रत्येक को दिया जाएगा. साथ ही रेहड़ी वालों को 1000 रुपये की राशि
दी जाएगी. ये मदद राशि मजदूरों के खाते में ट्रांसफर की जाएगी.

बता दें कि
कोरोना वायरस के मद्देनजर उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य में लॉकडाउन लागू
किया है. वहीं कोरोनावायरस के बढ़ रहे प्रकोप के कारण उत्तर प्रदेश के
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने मंत्रियों को भीड़भाड़ वाले इलाकों में
जाने से मना किया है. उन्होंने कहा है कि अगर किसी व्यक्ति से मिलना
अनिवार्य है तो उससे घर पर ही मिलें.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button