इतने दिनों बाद बाजार में उपलब्ध होगी कोरोना वैक्सीन

जुबिली न्यूज़ डेस्क
देश में कोरोना महामारी से संक्रमितों की संख्या बढती जा रही है। इस बीच कोरोना वैक्सीन को लेकर एक बड़ी खबर सामने आई है। देश की पहली वैक्सीन ‘कोविशील्ड’ 73 दिनों में बाजार में उपलब्ध हो जाएगी। साथ ही राष्ट्रीय टीकाकरण कार्यक्रम के तहत भारत सरकार हर भारतीय को ये वैक्सीन मुफ्त में लगाई जाएगी। बता दें कि कोविशिल्ड को पुणे की बायोटेक कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट बना रही है।
खबरों के मुताबिक, सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के पदाधिकारियों ने बताया कि भारत सरकार ने हमारी कंपनी को विशेष निर्माण प्राथमिकता का लाइसेंस दिया है। इसके तहत कंपनी ने वैक्सीन के ट्रायल प्रोटोकॉल की प्रक्रिया को और बढ़ा दिया है। उम्मीद लगाई जा रही है कि वैक्सीन का ट्रायल 58 दिनों में पूरा हो जाएगा।
बता दें कि वैक्सीन के तीसरे चरण का पहला डोज शनिवार को दिया गया है। वहीं दूसरा डोज शनिवार से दिए गए पहले डोज से 29 दिन के बाद ही दिया जाएगा। दूसरा डोज दिए जाने के 15 दिन के बाद इसकी रिपोर्ट सामने आएगी। इसके बाद वैक्सीन के सभी चरण पूरे हो जाने के बाद ही इसको बाजार में उतारे की योजना बनाई जा रही है।

ये भी पढ़े : ढाई साल में “माई लार्ड” के खिलाफ 534 शिकायतें
ये भी पढ़े : बिहार विधानसभा चुनाव : जल्द शुरु होगा पाला बदल का दूसरा दौर
गौरतलब है कि 17 केंद्रों में 1600 लोगों के बीच कोविशिल्ड वैक्सीन का ट्रायल हो रहा है। हर केंद्र में लगभग 100 लोगों पर कोरोना वैक्सीन का ट्रायल किया जा रहा है। सीरम इंस्टीट्यूट ने Astra Zeneca नाम की कंपनी से इस वैक्सीन को बनाने के लिए अधिकार खरीद लिए हैं। इसके एवज में सीरम इंस्टीट्यूट भारत और 92 देशों में इस वैक्सीन को बेच सकेगी।
68 करोड़ कोरोना वैक्सीन खरीदेगी
वहीं वैक्सीन आने के बाद केंद्र सरकार की ओर से ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि सरकार सीरम इंस्टीट्यूट से सीधे कोविशिल्ड वैक्सीन खरीदेगी और हर भारतीय को इसका टीका मुफ्त में लगाएगी। बताया जा रहा है कि केंद्र सरकार जून 2022 तक सीरम इंस्टीट्यूट से 68 करोड़ कोरोना वैक्सीन खरीदेगी।
Covaxine और ZyCoV-D पर भी निर्भर
सरकार यह योजना बना रही है कि अन्य राष्ट्रीय टीकाकरण मिशन की तरह ही इसे भी पूरे देश में चलाया जाएगा। इसके अलावा जनसंख्या अधिक होने की वजह से सरकार की अलग योजना भी है। सरकार आगे की कोरोना वैक्सीन के लिए आईसीएमआर और भारत बायोटेक द्वारा विकसित की जा रही Covaxine और ZyCoV-D पर भी निर्भर रहेगी।
हर महीने 6 करोड़ वैक्सीन तैयार करेगी
सीरम इंस्टीट्यूट की योजना के मुताबिक अगल ट्रायल तय समय पर पूरा हो जाता है तो उनकी कंपनी हर महीने 6 करोड़ कोरोना वैक्सीन तैयार करेगी।वहीं  इस क्षमता को अप्रैल 2021 तक हर महीने 10 करोड़ करने की तैयारी है।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button