आज होगा मनोहर पर्रिकर का अंतिम संस्कार,देश में एक दिन का राष्ट्रीय शोक

पणजी|
पूर्व रक्षा मंत्री और गोवा के मुख्यमंत्री रहे मनोहर पर्रिकर (63) का निधन हो गया। रविवार शाम 6.40 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। सोमवार शाम 5 बजे कैंपल स्थित एसएजी मैदान में उनका अंतिम संस्कार होगा। उनका एक साल से पैंक्रियाटिक कैंसर से इलाज चल रहा था। नरेंद्र मोदी ने कहा कि पर्रिकर मॉडर्न गोवा के निर्माता थे, उनके फैसलों ने भारतीय रक्षा क्षमताओं को बढ़ाया।
पर्रिकर का पार्थिव शरीर सोमवार को सुबह 9.30 से 10.30 तक पणजी के भाजपा कार्यालय में रखा जाएगा। इसके बाद पार्थिव देह को कला अकादमी लाया जाएगा, जहां 4 बजे तक आम लोग उन्हें श्रद्धांजलि दे सकेंगे। 
आईआईटीयन थे पर्रिकर

13 दिसंबर 1955 को गोवा के मापुसा में जन्मे पर्रिकर पहले ऐसे मुख्यमंत्री थे जो आईआईटी से पासआउट थे।
वह चार बार 2000-2002, 2002-05, 2012-2014 और 14 मार्च 2017-17 मार्च 2019 तक चार बार मुख्यमंत्री रहे।
2014 में जब केंद्र में भाजपा की सरकार बनी थी, तब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि वह गोवा की राजनीति छोड़कर केंद्र की राजनीति में आएं। इसके बाद पर्रिकर को रक्षामंत्री बनाया गया था।

देश के 18वें मुख्यमंत्री,जिनकी पद पर रहते हुए मृत्यु

Ujjawal Prabhat Android App Download Link

पर्रिकर देश के 18वें ऐसे मुख्यमंत्री रहे जिनका पद पर रहते हुए निधन हुआ। उनसे पहले तमिलनाडु की सीएम जयललिता, जम्मू-कश्मीर के शेख अब्दुल्ला और मुफ्ती मोहम्मद सईद, आंध्रप्रदेश के वाईएस राजशेखर रेड्डी का निधन भी पद पर रहते हुए ही हुआ था।
इनके अलावा गोपीनाथ बोरदोलोई (असम), रविशंकर शुक्ल (मध्यप्रदेश), श्रीकृष्ण सिंह (बिहार), बिधानचंद्र राय (प.बंगाल), मरुतराव कन्नमवार (महाराष्ट्र), बलवंत राय मेहता (गुजरात), सीएन अन्नादुरई (तमिलनाडु), दयानंद बंडोडकर (गोवा), बरकतुल्ला खान (राजस्थान), एमजी रामचंद्रन (तमिलनाडु), चिमनभाई पटेल (गुजरात), बेअंत सिंह (पंजाब) और दोरजी खांडू (अरुणाचल प्रदेश) का निधन भी पद पर रहते ही हुआ।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button