अमेरिका में कोरोना के सर्वाधिक मामलों के बावजूद लोग जल्द काम पर लौटेंगे : डोनाल्ड ट्रम्प

 
वाशिंगटन। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने टिप्पणी की है कि अमेरिका में कोरोना के हज़ारों नए मामले दर्ज होने के बावजूद जल्दी ही लोग अपने काम धंधे पर लौट सकेंगे। उन्होंने कहा कि इस सोच के पीछे मूल कारण यह है अमेरिका में कोरोना वायरस के ज़्यादा मामले टेस्ट हुए हैं। इस दिशा में अमेरिका ने दक्षिण कोरिया की तुलना में ज़्यादा कोरोना वायरस के टेस्टिंग की है। विदित हो, अमेरिका में श्रम विभाग की रिपोर्ट के अनुसार कोरोना के कारण 33 लाख लोगों के रोज़गार जा चुके हैं।
व्हाइट हाउस में गुरुवार को प्रेस को संबोधित करते हुए डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि उन्होंने सभी राज्यों के गवर्नर को एक पत्र लिख कर कहा है कि व्हाइट हाउस की एक कोरोनावायरस टीम शीघ्र ही ‘सोशल डिसटेंसिंग’ के बारे में नए दिशा निर्देश जारी करेंगे, ताकि वे प्रतिबंधों में छूट दी जा सके। इस योजना के माध्यम से देश में कोरोनावायरस संकट के मद्देनज़र सर्वाधिक जोखिम, मध्यम और कम जोखिम वाले तीन क्षेत्र बनाए जा जाएँगे।
अमेरिका में कोरोना के चीन से अधिक मामले दर्ज होने पर एक संवाददाता के पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि उन्हें चीन में कोरोनावायरस के दर्ज मामलों को ले कर संदेह है। उन्होंने यह भी कहा कि वह इस मामले में चीन के राष्ट्रपति शी जिन पिंग से फ़ोन पर बातचीत करेंगे। उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने कहा कि सभी पच्चास राज्यों में 5, 5200 टेस्ट हो चुके हैं।

Loading...
loading...
Loading...