अमित शाह का कांग्रेस पर हमला, 2010 में आतंकियों को क्यों छोड़ा

नई दिल्ली। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा पाकिस्तान से रिश्ते सुधारने के नाम कांग्रेस की संप्रग-2 सरकार ने जिन 25 आतंकियों को छोड़ा था, उनमें एक आतंकी ऐसा भी था जिसे 1999 में भी नहीं छोड़ा गया था।’कांग्रेस पार्टी को यह बताना चाहिए कि 2010 में जब कांग्रेस की सरकार थी इन छोड़े गए। आतंकियों में से एक शाहिद लतीफ आगे चलकर पठानकोट आतंकी हमले का मुख्य हैंडलर बना। जनता को गुमराह करने के लिए बार-बार कंधार विमान अपहरण का जिक्र किया जा रहा है।
ये भी पढ़ें :-धन की कमी से जूझ रहे जेट एयरवेज के पायलटों ने लिखी सरकार को चिठ्ठी 
आपको बता दें उन्होंने आगे कहा, ‘यह देश के मानस की मांग थी, यह जोखिम में फंसे लोगों को निकलने की हमारी प्राथमिकता थी, हमने वही किया, जो तब एकमात्र संभव रास्ता था। यह कदम कोई ‘गुडविल जेस्चर’ में नहीं उठाया गया था। यहां तक कि उस समय के विदेश मंत्री जसवंत सिंह, जिनके बेटे अब कांग्रेस में हैं, ने 2009 में दिए गए एक साक्षात्कार में कहा था कि सर्वदलीय बैठक में सोनिया गांधी और मनमोहन सिंह की सहमति थी।’
ये भी पढ़ें :-मैनपुरी में प्रचार को लेकर बसपा सुप्रीमो से नाराज मुलायम 
जानकारी के मुताबिक उन्होंने कहा ‘जानना जरूरी है कि इन 25 आतंकियों में एक आतंकी ऐसा भी था, जिसको 1999 में भी नहीं छोड़ा गया था। ये सभी 25 दुर्दांत आतंकी जैश-ए-मोहम्मद और लश्करे-तैयबा जैसे आतंकी संगठनों से जुड़े हैं। इन छोड़े गए आतंकवादियों में से एक शाहिद लतीफ आगे चल कर पठानकोट आतंकी हमले का मुख्य हैंडलर बना। आज अपनी राजनीति के लिए एक अत्यंत संवेदनशील स्थिति में लिए गए सर्वसम्मति के निर्णय पर सवाल उठाने वाली कांग्रेस क्या जवाब देगी कि इन आतंकियों की रिहाई क्यों की गई थी?’

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button