अभूतपूर्व फैसला : कोरोना वायरस से बचाने के लिए पूरे भारत में तीन सप्ताह तक लॉकडाउन

-प्रधानमंत्री की देश की जनता से अपने घरों की लक्ष्‍मण रेखा को न लांघने की अपील
-21 दिनों में अगर किसी तरह की लापरवाही हुई तो बर्बाद हो सकते हैं कई परिवार
-यूपी सरकार ने सभी जिलों में कर्फ्यू लगाने का अधिकार डीएम पर छोड़ा 

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो
नयी दिल्‍ली/लखनऊ। हिन्‍दुस्‍तान को कोरोना वायरस से बचाने के लिए अभूतपूर्व फैसला लेते हुए पूरे भारत को तीन सप्‍ताह तक लॉकडाउन करने का फैसला लिया गया है। यह लॉकडाउन मंगलवार 24 मार्च की रात्रि 12 बजे से लागू हो जायेगा। इस फैसले की जानकारी प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने आज रात को 8 बजे अपने संदेश में दी, यह संदेश टेलीविजन पर प्रसारित किया गया।
प्रधानमंत्री ने हाथ जोड़कर अपील करते हुए कहा कि इन 21 दिनों में अगर किसी प्रकार की लापरवाही हुई तो देश 21 साल पीछे चला जायेगा, सैकड़ों परिवार तबाह हो जायेंगे। उन्‍होंने बताया कि कोरोना वायरस का संक्रमण बहुत तेजी से फैलता है, इससे बचने का सिर्फ एक ही रास्‍ता है, कि इसके संक्रमण से बचा जाये, और उसके लिए आवश्‍यक है कि अपने घर की लक्ष्‍मण रेखा को न लांघिये।
उन्‍होंने कहा कि आपका घर के बाहर रखा गया एक कदम आपके घर में कोरोना वायरस ला सकता है। उन्‍होंने कहा कि हमें अमेरिका, इटली, चीन, ईरान जैसे देशों में हुई इससे तबाही के अनुभवों से सीखना होगा कि घरों में रहकर ही इस वायरस से बचा जा सकता है। उन्‍होंने कहा कि इस समय जो जहां है, वहीं रहे। उन्‍होंने बताया कि सरकार ने स्‍वास्‍थ्‍य क्षेत्र में वेंटीलेटर्स, बेड, प्रशिक्षण आदि के लिए बजट जारी किया है। उन्‍होंने इस घड़ी में अपना कार्य कर रहे डॉक्‍टर्स, नर्सेज, पैरामेडिकल स्‍टाफ, सफाई कर्मचारियों, हॉस्पिटल स्‍टाफ सहित सभी के लिए दुआयें करने की अपील करते हुए उनकी सराहना की।
प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्‍या बढ़ने की रफ्तार के बारे में बताते हुए कहा कि एक लाख पहुंचने में 67 दिन का समय लगा जबकि अगले एक लाख रोगियों की संख्‍या पहुंचने में सिर्फ 10 दिन लगे और उससे अगले एक लाख रोगियों की संख्‍या पहुंचने में सिर्फ 4 दिन का समय लगा।
इससे पूर्व वायरस के खतरे को देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए किसी जिले में जरूरत पड़ने पर वहां के जिलाधिकारी को यह फैसला लेने का अधिकार दे दिया है कि कर्फ्यू लगाना है अथवा नहीं। अब दो पहिया वाहन पर अकेले और चार पहिया वाहन में दो से ज्‍यादा लोगों को जाने की अनुमति नहीं दी जा रही है। माना जा रहा है‍ कि सड़कों पर लोगों का आना और सख्‍ती से साथ रोकने के लिए यह कदम उठाये गये हैं।
मुख्‍यमंत्री ने यह भी कहा कि इस दौरान राज्य की सभी सीमाएं सील की जा रही हैं। उन्होंने यह भी घोषणा की कि इस दौरान सूबे में सभी फ्लाइट्स, ट्रेनें, मेट्रो के साथ बसों का संचालन भी पूरी तरह से बंद रहेगा। इससे पहले रविवार को कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए यूपी सरकार ने सख्त कदम उठाते हुए राज्य के 16 जिलों में लॉकडाउन का फैसला किया था। इसके बाद जौनपुर और शामली में भी कोरोना संक्रमित मिलने के बाद इन दोनों जिलों में भी लॉकडाउन कर दिया गया है, इस समय 18 जिलों में लॉकडाउन चल रहा है।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button