अजय लल्लू क्यों हुए फिर गिरफ्तार

जुबिली स्पेशल डेस्क
लखनऊ । यूपी में इन दिनों अपराधी लगातार कानून को ताक पर रख रहे हैं। सूबे में एकाएक अपराध चरम पर पहुंच गया है। इतना ही नहीं अपराधियों को अब खाकी का रत्ती भर भी खौफ नहीं रह गया है। हत्या, लूट, रेप व चोरी जैसी घटनाये लगातार उत्तर प्रदेश में बढ़ रही है। ताजा मामला बलिया का है जहां पत्रकार रतन सिंह की हत्या कर दी गई।
इसके बाद से मामला अब राजनीतिक तूल पकड़ता जा रहा है। कांग्रेस ने एक बार फिर योगी सरकार पर हमला बोला है। बलिया में यूपी प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने एक बार फिर मोर्चा संभाल लिया है। उन्होंने कहा कि यूपी में जंगलराज, पत्रकारों की हत्या से प्रदेश दहल गया है।

ये भी पढ़े: …तो बंद होगी ऑनलाइन क्लास, हाईकोर्ट करेगा सुनवाई
ये भी पढ़े: क्या सुशांत केस से ‘साइकोलॉजिकल ऑटोप्सी’ होगी कारगर
इसके साथ ही उन्होंने कहा कि योगी के जंगलराज में पत्रकारों को निगला जा रहा है। प्रदेश की कानून व्यवस्था लकवाग्रस्त हो गई और प्रदेश में जंगलराज कायम हो गया है..
अजय कुमार लल्लू की ओर से ट्वीट कर जानकारी दी गई कि बलिया के पत्रकार रतन सिंह की हत्या, बेगुनाहों की हत्या को बर्दाश्त नहीं करेंगे…
पत्रकार रतन सिंह के परिजनों से मिलने जा रहा हूं, भाजपा सरकार की पुलिस ने सलोन टोल पर गाड़ी रोक दी है, पैदल जा रहा हूं। पुलिस ने बाद में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष समेत कई नेताओं को हिरासत में लिया…
उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने जारी बयान में कहा कि बलिया के पत्रकार रतन सिंह की सरेआम हत्या ने योगी राज की कलई खोल कर रख दी है। रामराज्य का दावा करने वाले योगी जी के हाथ से प्रदेश की कानून व्यवस्था निकल चुकी है, चौतरफा अराजकता का साम्राज्य है। अपराधियों की सबसे सुरक्षित धरती उत्तर प्रदेश हो गयी है ।

ये भी पढ़े: घर में थी महिला अकेली और फिर मनचलों ने घर में घुसकर…
ये भी पढ़े: होता था गंदा काम, महिलाओं समेत 13 गिरफ्तार
उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने आगे कहा कि प्रदेश में जंगलराज कायम हो चुका है और कानून के राज को लकवा मार चुका है। आज उत्तर प्रदेश बहुत ही भयावह स्थिति से गुजर रहा है और आम आदमी के जानमाल की सुरक्षा की एकदम गारंटी नहीं है। प्रदेश की महिलाएं, पत्रकार और आम आदमी इस बढ़े हुए अपराध से सहमें हुए हैं लेकिन योगी सरकार आम आदमी को सुरक्षा का एहसास कराने में बुरी तरह से नाकाम रही है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में अपराध का ग्राफ कोरोना को मात दे चुका है।
अजय कुमार लल्लू ने आगे कहा कि यह कैसा प्रदेश योगी जी बना रहे हैं जहां एक महीने में ही 124 हत्याएं होती हैं और तीन माह में तीन पत्रकार मार दिए जाते हैं। यही नहीं सरकार अपनी असफलता छिपाने के लिए 11 पत्रकारों पर एफआईआर दर्ज कराती है। इस जंगल राज के खिलाफ कांग्रेस चुप नहीं बैठने वाली है।

योगी आदित्यनाथ को आवाम को जवाब देना पड़ेगा। पुलिस हिरासत में लिए गए प्रतिनिधिमंडल में प्रदेश महासचिव मनोज यादव, किसान कांग्रेस अध्यक्ष तरुण पटेल, लखनऊ जिला अध्यक्ष वेद प्रकाश त्रिपाठी, शहर अध्यक्ष मुकेश सिंह चैहान आदि शामिल थे।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button