अगर साड़ी में हमेशा लगना है स्टाइलिश, तो फॉलो करें ये जरूरी टिप्स

सर्दियां खत्म होने के बाद इस सुहावने मौसम में ज्यादातर लड़कियां एथनिक वेयर पहनना पसंद करती हैं. कुर्ता और सूट के साथ-साथ कई लड़कियां साड़ियां भी पहनती हैं, लेकिन इसे संभालना थोड़ा मुश्किल जरूर होता है. ‘वीवरस्टोरी डॉट कॉम’ के संस्थापक निशांत मल्होत्रा और ‘इंडिया इंक’ की ब्रांड प्रमुख क्रिना पंजवानी ने कुछ स्टाइल्स के बारे में बताया है, जिनके साथ आप प्रयोग कर खुद को एक नया लुक दे सकती हैं : अगर साड़ी में हमेशा लगना है स्टाइलिश, तो फॉलो करें ये जरूरी टिप्स1. ठाकुर बारी स्टाइल साड़ी पहनने की सबसे पुरानी व पारंपरिक शैलियों में से एक है. इस स्टाइल में साड़ी लपेटने के लिए आपको लंबी साड़ी की जरूरत पड़ेगी, जिससे हर साइड से ढका जा सके. इस शैली में अगर अच्छे से बनारसी साड़ी को पहना जाए तो इससे आपको एक शाही लुक मिलेगा. 

2. साड़ी पहनने के लिए साड़ी-कम-दुपट्टा स्टाइल एक बेहतरीन शैली है. इसे लंबे ब्रोकेड जैकेट ब्लाउज के साथ पहनें और साड़ी के पल्लू को दुपट्टे की तरह लपेटे. 

4. लहंगे के साथ लॉन्ग स्लिट टॉप या स्लीवलेस जैकेट पहनना फ्यूजन ड्रेस का एक बेहतरीन संयोजन हो सकता है. लहंगे के साथ साइड स्लिट टॉप भी पहना जा सकता है. 

5. बनारसी साड़ी फैब्रिक की साड़ी को हाफ कैजुअल स्टाइल में लपेटना भी आपको अलग लुक देगा. इसे ऑफ-शोल्डर ब्लाउज के साथ पहनें. 

6. केप स्टाइल एक तरह से दुपट्टे को पोंचो की तरह लपेटने या केप से पीठ और कंधे को ढकने के बारे में है. इसे हर प्रकार के कपड़े की साड़ी से पहना जा सकता है, लेकिन बनारसी साड़ी में यह बहुत अच्छा लगता है. 

7. शिमरी और रिंकल्ड कपड़े आजकल चलन में हैं. वसंत के मौसम में वन पीस मैक्सी से लेकर इंडियन कुर्ती को केप या पलाजो के साथ पहना जा सकता है. इस कपड़े की साड़ी भी पहनी जा सकती है.  

8. इंडिगो या नील व बैंगनी रंग फिर से फैशन में हैं. बाजार में पलाजो के साथ अनारकली और साड़ी छाए हुए हैं. कपड़ों पर फ्लोरल और पीले, लाल या क्रीम रंग के बर्ड का प्रिंट परिधान की खूबसूरती और उभारता है. 

9. शीयर ऑर्गेन्जा कपड़े आजकल छाए हुए हैं. शीयर ऑर्गेन्जा कपड़े के डेलीकेट जैकेट, साड़ी, ट्नूनिक्स, दुपट्टा और अनारकली बहुत शानदार दिखते हैं और पहनने में भी सहजता महसूस करते हैं.

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button