इक्फाई के पांचवें दीक्षांत समारोह में उपराष्ट्रपति हुए शामिल, जोश और उत्साह से भर गए युवा

- in उत्तराखंड

हाथ में डिग्री और मेडल पाकर छात्र-छात्राओं के चेहरे खिल गए। मौका था इक्फाई विश्वविद्यालय के पांचवें दीक्षांत समारोह का। समारोह में 220 छात्रों को डिग्री दी गई। दो को पीएचडी अवार्ड हुई। समारोह में कुल 24 छात्रों को गोल्ड, सिल्वर और ब्रांज मेडल से नवाजा गया।

शनिवार को इक्फाई के दीक्षांत समारोह का शुभारंभ भारतीय पेट्रोलियम संस्थान के सभागार में उप राष्ट्रपति एम वैंकेया नायडू, राज्यपाल डॉ. केके पाल, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, उच्च शिक्षा राज्यमंत्री डॉ. धन सिंह रावत और विवि के चांसलर एम रामचंद्रन ने संयुक्त रूप से दीप जलाकर किया। इस मौके पर उप राष्ट्रपति ने आठ छात्रों को गोल्ड मेडल से सम्मानित किया। उपराष्ट्रपति ने युवाओं को भविष्य की चुनौतियों से निपटने के लिए आगे बढ़ने का आह्वान किया।

राज्यपाल डॉ. केके पाल ने कहा कि शिक्षकों और छात्रों को किताबी ज्ञान और सवालों की अवधारणाओं से आगे लाकर उनको जिज्ञासु बनने के लिए प्रोत्साहित करना होगा ताकि उनकी सोच और रचनात्मकता विकसित हो सके। राज्यपाल ने कहा कि अनुसंधान और रचनात्मक गतिविधियां विश्वविद्यालयों के ज्ञान सृजन में मददगार होंगी। उन्होंने यह भी कहा कि युवाओं को नवाचार एवं कौशल विकास के लिए  प्रोत्साहित किया जाना चाहिए।सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने युवाओं को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि यहां उन्हें केवल डिग्री ही नहीं मिली बल्कि देश के प्रति लगन व सच्चाई से काम करने की जिम्मेदारी भी मिली है।

उन्होंने कहा कि काबिलियत और शोध समाज के लिए होना चाहिए। समारोह में 220 छात्रों को डिग्री दी गई। इसमें एमबीए के 71, बीए एलएलबी के 78, एलएलबी के 12, एलएलएम के एक, बीटक के 47, एमटेक के पांच और बीएड के छह छात्र शामिल हैं। दो छात्रों को पीएचडी अवार्ड की गई। आठ छात्रों को गोल्ड, आठ को सिल्वर और आठ को ब्रांज मेडल से सम्मानित किया गया। इस मौके पर विवि के कुलपति डॉ. पवन कुमार अग्रवाल सहित बोर्ड ऑफ गवर्नर्स के सदस्य भी मौजूद रहे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

राफेल डील पर राहुल गांधी के बयान में सीएम रावत का पलटवार, कहा ‘उन्होंने पढ़ी गलत स्क्रिप्ट’

राफेल डील पर फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति के