आपके बच्चे का दिमाग होगा तेज, रोज खिलाएं ये चीज

चुकंदर पूरे भारत में पाया जाता है. बैंगनी लाल रंग का चुकंदर जमीन के नीचे उगता है. इसे सलाद की तरह खाया जाता है. इसके डंठल और पत्ते भी बैंगनी लाल रंग के होते हैं. शास्त्रों में चुकंदर शनि ग्रह का माना जाता है. चुकंदर खाने से शनि बलवान होता है वहीं चुकंदर का दान करने से शनि के कष्ट कम होते हैं.आपके बच्चे का दिमाग होगा तेज, रोज खिलाएं ये चीज

बच्चों के दिमाग को तेज करता है चुकंदर-

बच्चों को सलाद में चुकंदर खिलाना चाहिए. चुकंदर के रस से कनपट्टी पर मालिश करें और इसका गुनगना रस पिलाएं. ऐसा करने से बच्चों का दिमाग तेज होता है.  

बालों को घना करता है चुकंदर-

बाल शनि के कारक होते है. शनि कमजोर हो तो बाल घने नहीं होते हैं. बल्कि झड़ने लगते हैं सिर के घने बालों को उगाने के लिए चुकंदर का प्रयोग करें. इसके अलावा चुकंदर के पत्तों का रस दिन में 3-4 बार गंजे स्थान पर मालिश करने से तो उड़े हुए बाल फिर से उगने लगेंगे. रोज चुकंदर और आंवले का ताजा रस मिलाकर सिर की मालिश करने पर भी फायदा मिलता है.  

चुकंदर खून की कमी को दूर करता है-

शरीर में अगर खून की कमी हो, हीमोग्लोबिन कम होता है तो ऐसे लोगों को चुकंदर का सलाद खाने की सलाह दी जाती है. चुकंदर लिवर को शोधित करता है जिस से खून बनने बनने की प्रक्रिया तेज होती है चुकंदर के सलाद को नींबू और गर्म मसाला छिड़ककर खाना चाहिए.

बच्चों के दांत दर्द की रामबाण औषधि है चुकंदर-

दांत दर्द हो या मसूड़ों में सूजन हो चुकंदर को कूटकर उसका रस निकालें. चुकंदर के रस को मुंह में रखकर दांतों के चारों ओर घुमाएं और कुल्ला करें. कीड़े वाले दांतों का दर्द दूर होता है और सूजन भी तुरंत कम होती है. अगर सिर में माइग्रेन का दर्द हो तो चुकंदर का रस निकालकर हल्का गर्म करके नाक में अंदर टपका दें. ऐसा करने से तुरंत लाभ होता है.  

दिल को रखे निरोग-

चुकंदर से डायबिटीज और एनीमिया में ही फायदे नहीं मिलते, बल्कि यह दिल को स्वस्थ रखने में भी ये मदद करता है. चुकंदर के जूस से दिल के रोगियों की व्यायाम करने की क्षमता बढ़ने में मदद मिल सकती है.

Loading...

Check Also

सुबह जल्दी जगने वाली महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर का खतरा रहता है कम

सुबह जल्दी जगने वाली महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर का खतरा रहता है कम

अपने दिन की शुरुआत देर से करने वाली महिलाओं की तुलना में सुबह जल्दी उठने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com