उन्नाव रेप मामले में यूनुस का शव कब्र से खुदवा सकती है पुलिस

चर्चित उन्नाव रेप कांड में पुलिस सीबीआई के कथित गवाह यूनुस खान का शव कब्र से खुदवा सकती है। मौलवी को भी बातचीत के लिए पुलिस ने सुबह सुबह माखी थाने पर बुला लिया है। खबर गांव में फैलते ही यूनुस के घर के बाहर भीड़ जुटाने लगी है। हालांकि कि पुलिस-प्रशासन की तरफ से अभी कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है।

सीओ सफीपुर विवेक रंजन राय ने बीती रात 2 बजे तक पीड़ित के घरवालों को समझाने का प्रयास किया। सीओ की ओर से पीड़ित परिवार के घर वालों कहा गया जब बीमारी से मौत हुई है तो परेशान होने की जरूरत नहीं है। यह एक जांच का बिंदु है ऐसे में प्रशासन शव को खुदवाने से लेकर दफ़नाने तक की जिम्मेदारी लेता है। हालांकि यूनुस खान के घर वालों की तरफ से शव को खोदने से इंकार कर दिया गया है।

पुलिस और मृतक के घर वालों के बीच बातचीत चल रही है। सुबह से गांव में भीड़ जुटने लगी है। पुलिस की ओर से गांव में फोर्स तैनात करने की तैयारी की जा रही है साथ ही माइक भी लगा दी गई है। जिला प्रशासन शव के पोस्टमार्टम की तैयारी में भी लग गया है। हालांकि अभी सीओ ने यह खुलासा नहीं किया है कि शव को खोदा जाएगा। मृतक के भाई का कहना है कि पुलिस शव को कब्र से निकालकर पोस्टमार्टम कराने की बात कह रही है।

…तब भी नहीं दूंगी झूठी गवाही :शबीना
यूनुस की पत्नी शबीना का कहना है कि पति की मौत बीमारी से हुई है। आरोप लगाया कि उसे पीड़िता के चाचा की ओर से रुपये का लालच दिया जा रहा था। बोली, अगर पति के वजन के बराबर रुपया तौल देंगे तब भी झूठी गवाही नहीं देगी। उसका कहना था कि अगर सीबीआई ने पति को चश्मदीद गवाह बनाया होता तो उसकी जानकारी देते। तब पति के मौत की सूचना सीबीआई और पुलिस को दी जाती। अभी तक उन्हें यह भी जानकारी नहीं दी गई थी कि यूनुस सीबीआई का गवाह है। 

विधायक को बचा रही है भाजपा: चाचा
पीड़िता के चाचा ने एक बार फिर से प्रदेश और केंद्र सरकार पर गंभीर आरोप लगाए। उसका कहना था कि सीबीआई की ओर से चार्जशीट लगने के बाद भी विधायक को पार्टी से निकाला नहीं गया। उसका कहना है कि विधायक के समर्थकों के दबाव में यूनुस के घरवाले पोस्टमार्टम नहीं करा रहे हैं। एक बार फिर मांग की है कि शव का पोस्टमार्टम कराया जाए। 

थानेदार को गांव के लोगों ने घेरा
माखी थानेदार जावेद अख्तर शुक्रवार शाम गांव में जांच करने पहुंचे तो तमाम लोगों ने उन्हें घेर लिया। कहा कि वह किसी भी सूरत में शव को कब्र से निकलवाने के लिए तैयार नहीं है। क्योंकि यूनुस की मौत बीमारी से हुई है। एसओ ने उनको भरोसा दिलाया कि वह शव निकलवाने नहीं पूछताछ करने आए हैं। इसके बाद लोग शांत हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

वाराणसी में ‘पूर्वाचल’ राज्य की मांग कर रही महिला ने बस में लगाई आग

उत्तर प्रदेश के वाराणसी में ‘पूर्वाचल’ राज्य की मांग को लेकर