आप भी बढ़ाना चाहते हैं अपने शरीर में ये तो इन खानों से रहें दूर

- in जीवनशैली

यूं तो कई रिसर्च कह चुकी हैं कि कैफीन का स्पर्म काउंट पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता. ना तो शुक्राणुओं की संख्या पर ना ही उनके आकार पर. लेकिन अमेरिका की एक रिसर्च में पाया गया है कि बहुत ज्यादा कैफीन पीने से आईवीएफ तकनीक के द्वारा प्रेगनेंसी में दिक्कतें आती हैं. यानी आईवीएफ तकनीक से बच्चा पाने वालों को इसमें दिक्कतें आती हैं. इस स्थिति से बचने के लिए दोनों ही पार्टनर्स को रोजाना एक कप कॉफी से ज्यादा नहीं पीना चाहिए.आप भी बढ़ाना चाहते हैं अपने शरीर में ये तो इन खानों से रहें दूर

रिसर्च के मुताबिक, डाइट ड्रिंक्स में स्वीटर के लिए इस्तेमाल होने वाला एस्पार्टैम का ताल्लुक कम होते शुक्राणुओं की संख्या से है. साथ ही इसस स्पर्म डीएनए भी खराब होता है. आपको फुल फैट और हाई शुगर वाले डाइट ड्रिंक को पीने स बचना चाहिए. रिसर्च में ये भी पाया गया है कि जो पुरुष बहुत ज्यादा मात्रा में सॉफ्ट ड्रिंक्स पीते हैं उनके स्पर्म काउंट घट जाते हैं.

इसके अलावा अधिक मात्र में अल्कोहल का सेवन भी स्पर्म काउंट को प्रभावित करता है. इसलिए आपको अपनी शराब पीने की आदत पर भी काबू पान होगा. अंत में विशेषज्ञों की माने तो इन सब में धूम्रपान सब से कयदा खतरनाक होता है. यह ना सिर्फ आपको फेफड़ों को खराब करता है बल्कि आपके स्पर्म की मात्रा और क्वालिटी पर भी बुरा प्रभाव डालता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

ब्यूटी टिप्स: अब रात भर में पाएं गोरी और चमकदार त्वचा, अपनाएं ये तरीके

काला रंग किसी लड़की की खूबसूरती पर बहुत