कृष्ण जन्मभूमि पर बोले योगी – मैं हिंदू हूं, हर एक व्यक्ति को अपनी आस्था का अधिकार

- in Mainslide, राष्ट्रीय

होली से पहले श्रीकृष्ण की जन्मभूमि मथुरा पहुंचे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि किसी को भी कोई त्यौहार मनाने की मनाही नहीं है, ये अधिकार उन्हें भी है. बता दें कि योगी कृष्ण जन्मभूमि पर पहुंचने वाले राज्य के पहले मुख्यमंत्री हैं.

मंदिर परिसर में आधे घंटे रहे योगी

योगी के दौरे के कारण मथुरा में शनिवार सुबह सुरक्षा का सख्त पहरा था. मंदिर के पीछे वाले गेट से श्रद्धालुओं को मंदिर जाने की इजाजत नहीं थी. योगी आदित्यनाथ मंदिर में दर्शन के लिए तड़के ही चले आए. मंदिर परिसर में उन्होंने लगभग आधा घंटा समय बिताया और और गर्भ गृह में 15 मिनट पूजा-अर्चना की, जिसके बाद उन्होंने सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया.

योगी बोले- आता रहूंगा मथुरा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मथुरा भगवान कृष्ण की जन्म भूमि है और तो और बांके बिहारी की लीला भूमि भी है, वो इसलिए  बार-बार मथुरा आते रहेंगे. योगी ने कहा, ‘पर्यटन को बढ़ावा देना बहुत महत्वपूर्ण है. मैं यहां पर दो दिन के दौरे पर हूं और अनेक कार्यक्रमों से जुड़ा रहा हूं. सुबह समय था तो कृष्ण जन्मभूमि में दर्शन करने आया और सुरक्षा की व्यवस्था का जायजा भी लिया.’

योगी ने लिया सुरक्षा व्यवस्था का जायजा

कृष्ण जन्मभूमि की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर सीएम चिंतित नजर आए और उन्होंने सुरक्षा व्यवस्था का निरीक्षण किया.  योगी ने चिंता जताई कि मंदिर परिसर के सीसीटीवी कैमरे में ड्रोन नहीं है और जो बैरीकेड सुरक्षाकर्मियों के लिए है, वह भी काफी पुराने हो गए हैं, जिन्हें ठीक करने की जरूरत है.  यहां आ रहे श्रद्धालुओं  के लिए सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखना बेहद जरूरी है. यह मुझे सुनिश्चित करना जरूरी है कि कोई अनावश्यक स्थिति ना पैदा हो और इसके लिए मैंने एक महत्वपूर्ण बैठक ली.’

‘अपनी आस्था व्यक्त करने का अधिकार है’

योगी आदित्यनाथ मंदिर में दर्शन करके काफी खुश थे और उन्होंने कहा कि वे 5000 साल पुराने मंदिर में दर्शन करके तृप्त हो गए.  उनके दौरे पर हो रही सियासत पर उन्होंने कहा, ‘मैं एक हिंदू हूं और हर एक व्यक्ति को अपनी आस्था व्यक्त करने का अधिकार है. मेरी कोशिश है अधिक से अधिक पर्यटक यहां आ सकें.’

‘ईद, क्रिसमस या दिवाली मनाने की मनाही नहीं’

वहीं जब उनसे पूछा गया कि वह अगर अयोध्या में दिवाली मना रहे हैं और मथुरा में होली , तो ईद  कहां मनाएंगे. इस पर योगी ने कहा, ‘हर एक व्यक्ति अपनी आस्था व्यक्त करने के लिए स्वतंत्र है.  ईद, क्रिसमस या दिवाली मनाने के लिए हमने किसी को रोका नहीं है और त्यौहार मनाने का अधिकार मुझे भी है. आस्था और श्रद्धालुओं की सुविधा के साथ-साथ पर्यटन क्षेत्र को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विकसित करना मेरा कर्तव्य है.’

पर्यटन का विकास है प्राथमिकता

सीएम योगी आदित्यनाथ ने बताया कि पर्यटन का विकास उनकी सरकार की प्राथमिकता है. इसीलिए अयोध्या में दीपोत्सव, चित्रकूट में रामायण मेला, प्रयाग में कुंभ का मेला और बरसाने में होली होगी. इससे भारत की संस्कृति और सभ्यता का विकास होगा.

मंदिर की व्यवस्था दुरुस्त होने की उम्मीद

मथुरा में मंदिर के पुरोहित स्वामी जय किशन गिरी ने बताया कि योगी आदित्यनाथ पहले मुख्यमंत्री हैं, जो कृष्ण जन्मभूमि पर आए हैं और यहां की व्यवस्था को लेकर चिंतित हैं. यह बहुत अच्छी बात है और उनको उम्मीद है कि मंदिर की व्यवस्था दुरुस्त होगी. सभी श्रद्धालु मथुरा आने से हिचकेंगे नहीं.

You may also like

अपने जीन्स में मौजूद कैंसर के खतरे से अनजान हैं 80 फीसदी लोग

दुनिया भर में कैंसर के मामलों में तेजी