योगी सरकार ने गरीबों को दिया ये बड़ा तोहफा, 50 लाख लोगों को मिलेगी पेंशन

नई दिल्ली: यूपी की योगी सरकार जल्द ही गरीबों के लिए पेंशन स्कीम शुरू करेगी. इस स्कीम में 50 लाख से ज्यादा गरीबों को 800 रुपए प्रतिमाह की पेंशन दी जाएगी. योगी सरकार जल्द से जल्द इस स्कीम को लागू करने की तैयार में है. कहा जा रहा है कि इस साल जुलाई-अगस्त तक इसकी घोषणा की जा सकती है.योगी सरकार ने गरीबों को दिया ये बड़ा तोहफा, 50 लाख लोगों को मिलेगी पेंशन

बता दें कि इससे पहले अखिलेश सरकार में समाजवादी पेंशन योजना शुरू की गई थी. जिसमें हर महिने गरीबों को 750 रुपए दिए जाते थे. समाजवादी पेंशन में 55 लाख लोगों को इस सुविधा का लाभ मिल रहा था. बाद में प्रदेश सरकार ने इस योजना पर रोक लगा दी थी.

इन्हें मिलेगा फायदा

इस योजना का लाभ दोपहिया वाहन और एक कमरे के पक्के मकान वाले लोगों को भी मिलेगा. इस स्कीम के तहत कुल 50 लाख लोगों को फायदा पहुंचाने की योजना है.

पिछली योजना से 50 रुपए ज्यादा का लाभ

बता दें कि योगी सरकार की इस पेंशन योजना में गरीबों को पिछली योजना से 50 रुपए ज्यादा मिलेंगे. समाजवादी पेंशन योजना में अधिकतम सीमा 750 रुपये तय थी. इस स्कीम में लाभ लेने के लिए पात्रों को केंद्र की गरीबी रेखा की आय सीमा का पालन करना होगा. इसके लिए जरुरी नियम स्कीम शुरू होने के समय ही बताए जाएंगे. सरकार की तरफ से व्यापक स्तर पर इस योजना का प्रचार- प्रसार किया जाएगा ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को इसका फायदा मिल सके.

योगी सरकार ने शुरू की थी दलितों को मुफ्त बिजली कनेक्शन देने की कवायद

बता दें कि इससे पहले योगी सरकार ने दलितों को मुफ्त बिजली कनेक्शन देने की कवायद शुरू की थी. इसके तहत राज्य के के 19 जिलों में दलितों को बिजली कनेक्शन दिया जाएगा. एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी थी. मध्यांचल विद्युत वितरण निगम के प्रबंध निदेशक संजय गोयल ने बताया कि प्रदेश के 19 जिलों के शहरी दलित (अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति) भी अब सौभाग्य योजना की तर्ज पर मुफ्त बिजली कनेक्शन पाएंगे.

राज्य सरकार की योजना के तहत लखनऊ, रायबरेली, उन्नाव, हरदोई, सीतापुर, लखीमपुर, बाराबंकी, फैजाबाद, अंबेडकरनगर, गोंडा, बहराइच, बलरामपुर, श्रावस्ती, सुल्तानपुर, अमेठी, बरेली, बदायूं, शाहजहांपुर व पीलीभीत जिलों में नगर पंचायत, नगर पालिका, नगर निगम के एक-एक वार्ड का चयन किया गया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

अपने जीन्स में मौजूद कैंसर के खतरे से अनजान हैं 80 फीसदी लोग

दुनिया भर में कैंसर के मामलों में तेजी