भाजपा शासित राज्यों में महिलाओं की दुर्दशा: मायावती

लखनऊ। देवरिया प्रकरण पर विपक्ष ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए भाजपा सरकारों पर निशाने साधा है। घटना को शर्मनाक बताते हुए दोषियों को कठोर कार्रवाई किए जाने की मांग की। बसपा भाजपा शासित राज्यों में महिलाओं की दुर्दशा को रेखांकित किया। कांग्रेस ने मुख्यमंत्री के गृह जिले के निकट महिला सरंक्षण के नाम पर जबरन देह व्यापार होना दुर्भाग्यपूर्ण बताया जबकि रालोद ने मामलों की सीबीआइ जांच की मांग की है।भाजपा शासित राज्यों में महिलाओं की दुर्दशा: मायावती

भाजपा शासित राज्यों में पूरा जंगलराज: मायावती

बहुजन समाज पार्टी अध्यक्ष मायावती ने देवरिया प्रकरण की भत्र्सना करते हुए भाजपा शासित राज्यों में महिलाओं की सर्वाधिक दुर्दशा और उत्पीडऩ  होने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि बिहार की घटना से सबक लेते हुए तुरंत अलर्ट होना चाहिए था लेकिन, योगी सरकार सोती रही। उन्होंने कहा कि भाजपा शासित राज्यों में थोड़ा नहीं बल्कि पूरा जंगलराज है। कानून व्यवस्था की तरह ही महिला सुरक्षा व सम्मान भी भाजपा की प्राथमिकता में शामिल नहीं है। मायावती ने आरोप लगाया कि मुजफ्फरपुर शेल्टर होम के बाद देवरिया के नारी संरक्षण गृह में रहने वाली महिलाओं से जबरन देह व्यापार कराने जैसा घिनौना कांड पूरे देश के लिए शर्म व अति चिंता की बात है। उन्होंने कहा कि सरकारी संरक्षण मिले बगैर ऐसा अन्याय व घोर पाप संभव नहीं है। सरकार ऐसे मामलों में कठोरतम कार्रवाई करने के बजाए लीपापोती ही करती रही है इसीलिए भाजपा शासन में ज्यादातर लोग स्वयं को कानून से ऊपर मानने लगे है।

मुख्यमंत्री व विभागीय मंत्री इस्तीफा दें: राजबब्बर 

देवरिया महिला आश्रय गृह की घटना को शर्मनाक बताते हुए कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर ने कहा कि मुख्यमंत्री के गृह जिले के निकट महिला सरंक्षण की आड़ में जबरन देह व्यापार जैसे घटिया कार्य होना दुर्भाग्यपूर्ण है। जिस संस्था का लाइसेंस रद हो चुका हो वहां बालिकाओं को आखिर किसके इशारे पर रखा जा रहा था? उन्होंने कहा कि जिस अधिकारी या राजनीतिक व्यक्ति, जिसके संरक्षण में यह घिनौना कार्य हो रहा था उनको कठोरतम सजा मिलनी चाहिए। मुख्यमंत्री व विभागीय मंत्री को नैतिकता के आधार पर तत्काल त्यागपत्र दे देना चाहिए। राजबब्बर ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बेटी पढ़ाओ-बेटी बचाओ जैसे जुमले अक्सर उछालते हैं परंतु जिन राज्यों में भाजपा सरकार है, वहां महिलाएं व बच्चियां सुरक्षित नहीं रह गयी है।

संस्थाओं की सीबीआइ जांच हो: रालोद

बिहार के मुजफ्फरपुर प्रकरण के बाद देवरिया में नारी संरक्षण गृह में रहने वाली बालिकाओं के साथ शर्मनाक कृत्य की भत्र्सना करते हुए राष्ट्रीय लोकदल के प्रवक्ता अनिल दुबे ने कहा कि एनजीओ द्वारा संचालित नारी संरक्षण गृहों की सीबीआइ जांच कराएं ताकि समाजसेवा की आड़ में घिनौने कृत्य न हो सकें। दुबे ने कहा कि ऐसी संस्थाओं को सरंक्षण दे रहे सफेदपोश लोगों के चेहरे भी बेनकाब किए जाने चाहिए।

नौ अगस्त को विरोध दिवस मनाएंगे

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के राज्य सचिव डा. गिरीश ने आरोप लगाया कि देश में मोदी और प्रदेश में योगी सरकार बनने के बाद महिलाओं पर अमानुषिक अत्याचार यौन शोषण जैसे अपराध बढ़े है। उन्होंने देवरिया प्रकरण की सीबीआइ जांच कराने की मांग करते हुए बताया कि नौ अगस्त को जिला केंद्रों पर महिला व दलित उत्पीडऩ विरोधी दिवस मनाया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

जवानों की हत्या को लेकर केजरीवाल ने PM मोदी से मांगा जवाब

बीएसएफ जवान नरेंद्र सिंह की शहादत के बाद