यहां पुरुषों के शौचालय का उपयोग करने पर मजबूर हैं महिलाएं

- in मध्यप्रदेश, राज्य

इंदौर। जिला अस्पताल के महिला वार्डों में अलग से शौचालय की व्यवस्था नहीं है। ऐसे में वार्ड के बाहर बने पुरुष शौचालय का उपयोग करना महिलाओं की मजबूरी है। दो माह पहले अपर कलेक्टर ने निरीक्षण के दौरान इसकी व्यवस्था कराने के निर्देश दिए थे, लेकिन अभी तक इस ओर किसी ने ध्यान नहीं दिया।

जिला अस्पताल में सालों से महिला वार्ड में अलग से शौचालय नहीं है। यहां 12 वार्ड में से 3 वार्ड महिलाओं के लिए बनाए गए हैं। इसमें डिलेवरी वार्ड सहित फीमेल मेडिकल वार्ड शामिल हैं। नए अस्पताल का प्रस्ताव पास होना प्रमुख कारण बताकर महिला शौचालय बनाने को नजरअंदाज किया जा रहा है। जब वार्ड में भर्ती महिला शौचालय जाती है तो पुरुष वार्ड के बाहर एक महिला को खड़ा करना पड़ता है। इस अव्यवस्था के बारे में सभी डॉक्टर जानते हैं, फिर भी इस दिशा में काम नहीं किया जा रहा है।

दीवारों से नहीं हटे जाले : दो माह निरीक्षण को होने के बाद भी अभी तक अस्पताल की दीवारों को साफ नहीं किया जा सका है। जमीन पर तो सफाई की जा रही है, लेकिन दीवारों को अभी तक साफ नहीं किया जा सका है। हर निरीक्षण के दौरान अधिकारी सफाई बेहतर करने के लिए आदेशित करते रहे हैं।

प्रस्ताव बनाकर भेजा गया है

दो माह पहले ही अतिरिक्त शौचालय के लिए प्रस्ताव बनाकर सीएमएचओ ऑफिस भेजा गया था। अभी तक इसे लेकर कोई आदेश नहीं आया। शौचालय बनाने के लिए जगह भी देखी गई है। निगम की तरफ से भी एक शौचालय बनाया जा रहा है। -डॉ. एमएस मंडलोई, सिविल सर्जन जिला अस्पताल

loading...

You may also like

एलजी हाउस में दुबके बैठे हैं केजरीवाल, दें दिल्ली की जनता को पानी: केंद्रीय मंत्री विजय गोयल

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने भी माना