वूमेन्स डे BJP मंत्री ने सुना डाली महिला विरोधी कहावत, फिर महिलाएं बोलीं…

- in राज्य, हरियाणा

वूमेन्स डे के मौके पर बीजेपी मंत्री ने महिला विरोधी कहावत सुना डाली, जिस पर महिलाएं भड़क गई और मंत्री महोदया को खूब खरी-खरी सुनाई। मामला हरियाणा विधानसभा का है। मंत्री रामबिलास शर्मा ने सदन में महिला विरोधी कहावत सुनाई तो हंगामा मच गया। कांग्रेस और इनेलों की महिला विधायकों ने कहावत को महिलाओं का अपमान बताते हुए मंत्री को खूब खरी खरी सुनाई।

वूमेन्स डे BJP मंत्री ने सुना डाली महिला विरोधी कहावत, फिर महिलाएं बोलीं...इनेलो विधायक परमिंद्र ढुल के शून्यकाल में किसानों को मुआवजे का मुद्दा उठाया तो रामबिलास शर्मा ने एक देसी कहावत सुना दी। पूर्व हुड्डा सरकार पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि नानी खसम कर भाग गई, ढुल साहब सजा दोहतों को देना चाहते हैं। इस पर महिला विधायक भड़क गईं।

कांग्रेस की महिला विधायक शकुंतला खटक ने इसे महिलाओं का अपमान बताते हुए अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के सरकारी कार्यक्रम का निमंत्रण पत्र और बैज रामबिलास शर्मा के पास जाकर उनकी सीट पर फैंक दिया। रामबिलास इस पर भी नहीं रुके और उन्होंने कहा कि नानी तो मां होती है, भावनाओं को समझें। कांग्रेसियों को न तो पंजाबी ठीक से आती है और न ही हरियाणवी।

इस पर पूर्व शिक्षा मंत्री और कांग्रेस विधायक गीता भुक्कल ने पलटवार किया कि मंत्री ऐसी कहावतें सुनाने की जगह महिलाओं के सम्मान में दो अच्छी बातें कहते तो अच्छा लगता।

उधर, रामिबलास शर्मा अपने बड़प्पन के लिए जाने जाते हैं। उनकी आदत है कि वे बेटियों, बहनों को शगुन के तौर पर रुपये देते हैं। उन्होंने लंच के दौरान खटक को भी मना लिया। लंच के समय रामबिलास उनके पास पहुंचे। उन्हें बहन की तरह दो हजार रुपये का शगुन देकर मनाने लगे।

साथ ही उनकी तारीफ भी की कि खटक एक जुझारू और मेहनती विधायक हैं। इस पर खटक ने भी बड़प्पन दिखाते हुए कहा कि वह दो हजार रुपये नहीं, सिर्फ एक रुपया लिया और कहा कि उन्होंने विधायक बनने के बाद शपथ ली थी कि किसी से भी एक रुपये ज्यादा नहीं लूंगी।

कुछ बोलूंगी तो खड़ा हो जाएगा हंगामा
इनेलो विधायक नैना चौटाला ने राज्यपाल अभिभाषण के धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान माहौल गरमा दिया। 12 साल की बच्चियों से रेप पर फांसी की सजा का मामला उठाते हुए उनकी जुबान फिसल गई। उन्होंने 12 साल के बच्चों को फांसी की सजा की बात बोली तो मंत्री कविता जैन ने इसे दुरुस्त करने की कोशिश की। जिससे नैना सुनने को तैयार नहीं थी।

इस पर भाजपा विधायक कुलवंत बाजीगर ने डबवाली के दुष्कर्म मामलों को लेकर टिप्पणी कर डाली। इससे नैना गुस्सा र्गईं और बोलीं कि मैं कुछ बोलूंगी तो हंगामा खड़ा हो जाएगा। मेरी बात आराम से सुन लो, भाजपा कोई दूध की धुली पार्टी नहीं है।

नैना ने असुरक्षित होने के कारण बच्चियों केस्कूल छोड़ने, डबवाली अग्निकांड मृतकों के परिवारों को मुआवजा, गेस्ट टीचर्स मैना यादव के बाल मुंडवाने, आंगनबाड़ी वर्कर्स पर लाठीचार्ज का मुद्दा उठाया। जिस पर इनेलो विधायकों ने शेम-शेम के नारे लगाए।

You may also like

सुप्रीम कोर्ट का अयोध्या मामले में इसी हफ्ते आ सकता है ये बड़ा फैसला

अयोध्या राम जन्मभूमि मामले से जुड़े एक अहम केस में