सीएम पोर्टल पर महिला ने दी आत्मदाह की धमकी

- in उत्तराखंड

एक महिला ने ससुरालियों पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया। शिकायत पर कोई कार्रवाई न होने पर उसने मुख्यमंत्री के समाधान पोर्टल में भी शिकायत की। साथ ही सुनवाई न होने पर आत्मदाह की चेतावनी दी। 

शादी के सात माह बाद ही दहेज के लालच ने महिला को मायके में रहने के लिए मजबूर कर दिया है। महिला ने ससुरालियों पर दवाई खिलाकर गर्भपात कराने का आरोप भी लगाया है। पुलिस अफसरों से शिकायत करने के बाद अब महिला ने मुख्यमंत्री के समाधान पोर्टल पर शिकायत कर ससुरालियों पर कानूनी कार्रवाई नहीं होने पर 10 सितंबर को आत्मदाह की चेतावनी दी है। महिला की इस चेतावनी से पुलिस अफसरों में हड़कंप मच गया है। 

अल्मोड़ा जिले के रानीखेत स्थित एक गांव की महिला वर्तमान में लालडांठ रोड हल्द्वानी में रहती है। महिला के मुताबिक वह गरीब परिवार से है। 24 जनवरी को उसका विवाह रेलवे कालोनी काठगोदाम निवासी आकाश कुमार से घोड़ाखाल मंदिर में हुआ। 

शादी के दो दिन बाद ही आकाश उसे लेकर किराये के कमरे में रहने लगा। आरोप है कि समय-समय पर आकाश की मां व बुआ कमरे में आकर महिला से दहेज के लिए प्रताड़ित करने लगे। 16 अप्रैल को ससुरालियों ने दवाइयां खिलाकर गर्भपात करा दिया। 18 अप्रैल को उसे पीटकर घर से निकाल दिया गया तो वह मायके में रहने लगी। 

आरोप है कि तीन मई को डरा धमकाकर उसे और उसकी मां को तहसील में बुलाकर कागजों पर हस्ताक्षर करवा दिए। महिला ने पति पर फर्जी फेसबुक आइडी बनाकर धमकाने का भी आरोप लगाया है। 

महिला के मुताबिक 24 मई को वह वकील से मिलने नैनीताल गई थी। वहां से पति डरा-धमकाकर उसे अपने साथ ले गया और दुष्कर्म किया। महिला ने 30 अगस्त को समाधान पोर्टल पर शिकायती पत्र भेजकर 10 दिन के भीतर कार्रवाई नहीं होने पर 10 सितंबर को आत्मदाह की चेतावनी दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तराखंड विधानसभा ने गाय को राष्ट्रमाता घोषित करने का संकल्प किया पारित

उत्तराखंड विधानसभा ने गाय को राष्ट्रमाता घोषित करने