5 किमी के दायरे में नहीं है पेट्रोल पंप तो ऐसे पेट्रोल-डीजल पहुंचाएगा IOC

- in राष्ट्रीय

इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन उन जगहों पर पेट्रोल-डीजल पहुंचाएगा जहां 5 किलोमीटर के दायरे में पेट्रोल पंप नहीं है. आईओसी के चेयरमैन संजीव सिंह का कहना है कि हम एक ऐसा बिजनेस मॉडल बना रहे हैं जहां पेट्रोल-डीजल को लेकर लोगों को किसी तरह की परेशानी न हो. हम उन जगहों पर पेट्रोल डीजल की डिलिवरी सुनिश्चित करेंगे जहां 5 किलोमीटर के दायरे मे पेट्रोल पंप नहीं हैं. डोर स्टेप डिलिवरी इसी दिशा में उठाया गया कदम है. इससे किसानों और उन महिलाओं को फायदा मिलेगा जिन्हें डीजल-पेट्रोल के लिए लंबी दूरी तय करनी पड़ती है. चेयरमैन संजीव सिंह ने कहा कि पेट्रोलियम मंत्रालय से सेफ्टी क्लियरेंस मिलने के बाद हमारी कंपनी ने पेट्रोलियम की होम डिलिवरी शुरू कर दी है.

गौरतलब है कि इंडियन ऑयल कॉर्प ने पुणे से इस सेवा की शुरुआत की है. हालांकि कंपनी ने पहले डीजल की होम डिलीवरी शुरू की है. बाद में पेट्रोल की भी होम डिलीवरी शुरू की जाएगी. इस सेवा को पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर शुरू किया गया है. सफलता मिलने के बाद इसे पूरे देश में लागू किया जाएगा.

चेयरमैन संजीव सिंह ने बताया था कि कंपनी ने डीजल की होम डिलिवरी सर्विस की शुरुआत पुणे से की है. कंपनी का लक्ष्य जल्द इसे पूरे देश में लागू करना है. कंपनी ने इसके लिए डीजल भरने वाली मशीन को एक ट्रक में लगाया है. यह मशीन उसी तरह की है, जैसी पेट्रोल पंपों पर लगी होती है. ट्रक में एक टंकी भी लगी हुई है. इसके जरिए ही शहर में लोगों को डीजल की होम डिलिवरी की जाएगी.

एक लाख पदों के लिए रेलवे में दो करोड़ आवेदन

पेट्रोल की भी होम डिलिवरी शीघ्र शुरू होने की उम्मीद है. अन्य कंपनियां हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्प लिमिटेड (HPCL) और भारत पेट्रोलियम कॉर्प लिमिटेड (BPCL) को भी होम डिलिवरी के लिए पैसों की मंजूरी मिली है. ये कंपनियां देश के अन्य हिस्सों में पायलट प्रोजेक्ट चलाएंगी

IOC के चेयरमैन संजीव सिंह का कहना है कि पेट्रोलियम और विस्फोटक सुरक्षा संगठन (पेसो) से मंजूरी मिलने के बाद इस तरह की सेवा शुरू करने वाली IOC पहली कंपनी है. फिलहाल, ये प्रायोगिक आधार पर शुरू किया गया है. तीन महीने की परीक्षण अवधि में प्राप्त होने वाले अनुभव के आधार पर इसे अन्य शहरों में शुरू किया जाएगा.

 
 
 

 

You may also like

सेना प्रमुख बिपिन रावत ने कहा- आतंकियों के खिलाफ एक और सर्जिकल स्ट्राइक की जरूरत

हमारे सैनिकों के खिलाफ आतंकवादियों और पाकिस्तानी सेना