सपा से छूटा पंखुड़ी पाठक का साथ तो दूर की अखिलेश यादव से जुड़ी ये चीज

लखनऊः समाजवादी पार्टी की नई मीडिया पैनलिस्ट में पंखुड़ी पाठक का नाम शामिल नहीं होने के कारण उन्होंने पार्टी से किनारा कर लिया है। जिसके बाद सियासी गलियारों में हलचल मच गई है। पार्टी से किनारा करने के बाद पंखुड़ी पाठक ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से जुड़ी कुछ यादगार चीजों को भी खुद से दूर कर दिया है। 

दूर की अखिलेश यादव से जुड़ी ये चीज
दरअसल, इस्तीफा देने के बाद उन्होंने ट्विटर से अखिलेश यादव के साथ लगाई अपनी तस्वीर को बदल दिया है। पार्टी से इस्तीफा देने से पहले पंखुड़ी पाठक ने अपने ट्विटर अकाउंट पर अखिलेश संग तस्वीर लगाई थी। 

बता दें कि, सोमवार को समाजवादी पार्टी ने अपने प्रवक्ताओं की नई लिस्ट जारी की। इस लिस्ट में पंखुड़ी पाठक का नाम नहीं था। जिससे नाराज होकर उन्होंने पार्टी से किनारा करने का फैसला लिया है।

ट्विटर पर दी इस्तीफे की जानकारी
पंखुड़ी पाठक ने इस्तीफा देने की जानकारी खुद दी। उन्होंने ट्वीट कर लिखा- कि भारी मन से सभी साथियों को सूचित करना चाहती हूं कि @samajwadiparty के साथ अपना सफर का मैं अंत कर रही हूं। 8 साल पहले विचारधारा व युवा नेतृत्व से प्रभावित हो कर मैं इस पार्टी से जुड़ी थी लेकिन आज ना वह विचारधारा दिखती है ना वह नेतृत्व। जिस तरह की राजनीति चल रही है उसमें अब दम घुटता है।

कौन हैं पंखुड़ी पाठक

26 साल की पंखुड़ी पाठक का कोई पॉलिटिकल बैकग्राउंड नहीं है। उनके पिता जेसी पाठक और मां आरती पाठक डॉक्टर हैं। पंखुड़ी का छोटा भाई चिराग पाठक अभी ग्रेजुएशन फर्स्ट ईयर का स्टूडेंट है। पंखुड़ी अखिलेश के फायरब्रांड नेताओं में शुमार हैं। उनके काम को देखते हुए अखिलेश ने उन्हें सपा की राष्ट्रीय प्रवक्ता के पद पर नियुक्त किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

‘नमोस्तुते माँ गोमती’ के जयघोष से गूंजा मनकामेश्वर उपवन घाट

विश्वकल्याण कामना के साथ की गई आदि माँ