नाबालिग से एक नेत्रहीन सहित 6 ने किया गैंगरेप

- in अपराध

गुजरात के राजकोट में गैंगरेप की शिकार एक नाबालिग बच्ची ने अविकसित बच्चे को जन्म दिया है. नाबालिग ने ऑपरेशन के जरिए बच्चे को जन्म दिया. बच्चे को जन्म देने के बाद नाबालिग मां को तो अस्पताल से छुट्टी दे दी गई, लेकिन नवजात की हालत खराब होने के चलते अभी उसका इलाज चल रहा है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, नवजात की रीढ़ की हड्डी पूरी तरह विकसित नहीं है. डॉक्टरों ने बताया कि नवजात का पैर लकवा ग्रस्त है और लकवे का असर उसके दिमाग पर भी है. जन्म के सप्ताह भर बाद 11 वर्षीय नाबालिग मां को तो छुट्टी दे दी गई, लेकिन नवजात का अभी अस्पताल में इलाज चल रहा है.

आपको बता दें कि अवांछित मां बनी नाबालिग बच्ची से छह लोगों ने करीब नौ महीने तक लगातार गैंगरेप किया था. इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, आरोपी नाबालिग बच्ची को घर के काम के लिए अक्सर अपने घर बुलाते थे और उसका रेप करते थे.

पीड़िता की मां को जब अपनी बेटी की आपबीती पता चली तो उन्होंने भक्तीनगर पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई. शिकायत दर्ज होने के बाद पुलिस ने 13 मार्च को दो आरोपियों 67 वर्षीय नानजी जाविया और 60 वर्षीय अरविंद कुबावत को गिरफ्तार कर लिया.

आजमगढ़ में अवैध असलहा फैक्ट्री का भंडाफोड़ करते हुए दो तस्करों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

पुलिस ने बताया कि दोनों आरोपियों से जब पूछताछ की गई तो पता चला कि कुल छह लोगों ने अलग अलग समय पर पीड़िता को अपनी हवस का शिकार बनाया था. दोनों आरोपियों के बयान के आधार पर और उनकी निशानदेही पर नेत्रहीन विजानंद अहिर और एक 17 साल के नाबालिग लड़के को गिरफ्तार किया गया.

बाद में पुलिस अन्य दो आरोपियों 40 वर्षीय विपुल चावड़ा और 61 वर्षीय गोविंद सकारिया को भी गिरफ्तार कर लिया. पीड़िता की मां को अपनी बेटी के साथ हो रहे अनाचार का पता तब चला, जब वह गर्भवती हो गई . मामले का खुलासा 8 मार्च को हुआ था.

 

You may also like

छोटी सी बात पर प्रेमिका ने प्रेमी को मारा चाकू, वीडियो बनाते रहे लोग

आए दिन होने वाली अपराध की घणाए कम