अभी-अभी हुआ बड़ा खुलासा: इस जगह से जुड़ रहे हैं यूपी के विधायक पर हमले के तार

गाजियाबाद। फेसबुक पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गोली मारने और लोनी विधायक पर चार दिन पूर्व हुई फायरिंग का मामला आपस में जुड़ता दिखाई दे रहा है। मंगलवार सुबह सोशल मीडिया पर दो युवकों के बीच हुए फेसबुक चैट के कुछ स्क्रीनशॉट वायरल हुए। इन स्क्रीनशॉट्स में एक युवक ने लिखा कि वह प्रधानमंत्री मोदी को धमकी देने वाले और विधायक पर गोली चलाने वाले युवकों को जानता है।अभी-अभी हुआ बड़ा खुलासा: इस जगह से जुड़ रहे हैं यूपी के विधायक पर हमले के तार

पुलिस का कहना है कि वह स्क्रीनशॉट्स के आधार पर मामले की जांच में जुटी हुई है। बीती 15 जून को भाजपा विधायक नंदकिशोर गुर्जर के फेसबुक एकाउंट पर अशोक विहार कालोनी निवासी नदीम खान ने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गोली मारने की धमकी दी थी। एक भाजपा नेता ने आरोपित युवक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी। घटना के दो दिन बाद रविवार को लोनी विधायक नंदकिशोर गुर्जर पर जानलेवा हमला किया गया था। मंगलवार सुबह सोशल मीडिया पर कुछ पोस्ट वायरल की गई। पोस्ट में देर रात दो युवकों के बीच हुई फेसबुक चैट के स्क्रीनशॉट थे।

एक युवक लोनी विधायक से मदद की मांग कर रहा है। वह दूसरे युवक से कह रहा है कि विधायक नंदकिशोर से बात करें और उसे मुकदमे से बचा लें। वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गोली मारने की धमकी देने वाले युवक की जानकारी दे देगा। साथ ही विधायक पर गोली चलाने वाले के बारे में भी बता देगा। लोनी विधायक नंदकिशोर गुर्जर का कहना है कि पुलिस के अधिकारी मामले में निष्पक्ष जांच कर रहे हैं। वहीं, सीओ दुर्गेश कुमार सिंह का कहना है कि 15 जून को ही आरोपित युवक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई थी। सभी पहलुओं को ध्यान में रखते हुए मामले की गंभीरता से जांच की जा रही है। जो स्क्रीनशॉट वायरल हुआ है उसके आधार पर भी जांच की जा रही है। जांच के बाद आरोपितों को जेल भेजा जाएगा।

माओवादियों ने रची ‘राजीव गांधी’ जैसी एक और हत्या की साजिश, निशाने पर थे मोदी !

भीमा-कोरेगांव में इस साल जनवरी में भड़की हिंसा मामले की जांच कर रही पुणे पुलिस ने एक सनसनीखेज खुलासा किया है। पुणे की एक स्‍थानीय अदालत में पुलिस ने कहा कि इस सिलसिले में गिरफ्तार पांच में से एक आरोपी के घर से ऐसा पत्र बरामद हुआ है, जिससे संकेत यह मिलते हैं कि यहां राजीव गांधी की हत्‍या जैसी वारदात को अंजाम देने की साजिश रची गई थी। पुलिस का यह भी दावा है कि इनके निशाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी थे।

पुलिस का कहना है कि यह पत्र भीमा-कोरेगांव हिंसा में शामिल आरोपी विल्‍सन के दिल्‍ली में मुनीरका स्थित डीडीए फ्लैट से बरामद किया गया। इससे संकेत मिलता है कि वे ‘राजीव गांधी हत्‍याकांड’ जैसी किसी वारदात को अंजाम देने की फिराक में थे। बता दें कि पुलिस ने बुधवार को इस मामले में रोना जैकब विल्सन, सुधीर ढावले, सुरेंद्र गाडलिंग सहित पांच लोगों को गिरफ्तार किया था। विल्‍सन को दिल्‍ली से गिरफ्तार किया गया था, जबकि ढावले को मुंबई से और गाडलिंग, शोमा सेन तथा महेश राउत को नागपुर से गिरफ्तार किया गया था। इनके लिंक प्रतिबंधित कम्‍युनिस्‍ट पार्टी ऑफ इंडिया (माओवाद) से थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

दो दिवसीय दौरे पर गोरखपुर पहुंचे सीएम योगी, 87 करोड़ लागत की योजनाओं का किया लोकार्पण

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार को