नहीं मिलेगी सफर के लिए उबर, ओला कैब इतने मार्च से हड़ताल पर जाएंगे ड्राइवर

- in कारोबार

रविवार से ओला-उबर से यात्रा करने वाले यात्रियों को बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है. मोबाइल एप पर टैक्सी बुकिंग करने की सुविधा देने वाली कंपनी उबर और ओला से जुड़े ड्राइवरों ने 18 मार्च यानी इस रविवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का एलान किया है. यह हड़ताल मुंबई, दिल्ली-एनसीआर, बेंगलुरु, हैदराबाद, पुणे जैसे प्रमुख शहरों में होने की संभावना है.

किसने बुलाई हड़ताल

इस हड़ताल का आह्वान महाराष्ट्र नवनिर्माण वहातुक सेना (एमएनवीएस) ने किया है. एमएनवीएस के संजय नाइक ने कहा, ‘ओला और उबर ने ड्राइवरों से बड़े वादे किए थे, लेकिन आज वह अपनी लागत भी नहीं निकाल पा रहे हैं. उन्होंने पांच से सात लाख रुपये निवेश किए और उन्हें मासिक आधार पर डेढ़ लाख रुपये तक कमाने की उम्मीद थी, लेकिन वह इसका आधा भी नहीं कमा पा रहे हैं, इसकी प्रमुख वजह इन कंपनियों का कुप्रबंधन है.’’

किन शहरों में होगी हड़ताल

यह हड़ताल मुंबई, दिल्ली-एनसीआर, बेंगलुरु, हैदराबाद, पुणे जैसे प्रमुख शहरों में होने की संभावना है.

ड्राइवरों की कमाई पर असर के चलते स्ट्राइक

नाइक ने आरोप लगाया कि बुकिंग में यह कंपनियां उनके स्वामित्व वाली टैक्सियों को तरजीह देती हैं, इससे भी ड्राइवरों की कमाई पर असर पड़ा है. नाइक का दावा है कि इन कंपनियों ने मुद्रा योजना के तहत ऋण लेने के लिए ड्राइवरों को गारंटीपत्र तो दिए, लेकिन उनका कोई सत्यापन नहीं किया. अब उनकी लागत पूरी नहीं होने से वह इसका भुगतान करने में सक्षम नहीं है.

SBI एटीएम कार्ड धारकों के लिए शुरू हुई यूनिक सर्विस, अब कार्ड को कर सकेंगे ऑन-ऑफ

अनिश्चितकालीन हड़ताल की योजना
उल्लेखनीय है कि अकेले मुंबई में इन कंपनियों की 45,000 से ज्यादा टैक्सियां हैं और अब काम कम होने से 20 फीसदी कम टैक्सियां सड़कों पर दौड़ रही हैं.
उन्होंने कहा कि यदि हमारी मांगें नहीं मानी गईं तो हम अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाएंगे. उन्होने आगे कहा कि चालकों ने इस मामले में हस्तक्षेप के लिए महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के नेता राज ठाकरे से संपर्क किया है.

 

You may also like

अरुण जेटली ने कहा- NBFC में तरलता बनाए रखने के लिए हर संभव कदम उठाएगी सरकार

निवेशकों की चिंता को कम करने के लिहाज