जब साधारण चीजों से बना डाली खूबसूरत कलाकृतियां

- in ज़रा-हटके

कलाकार चाहे तो क्या नहीं बना सकता है वो जिस चीज पर अपनी नज़र डालता है उसे वो हर चीज पर कुछ न कुछ कलाकृति दिख जाती है. अपनी दार्शनिक दृष्टिकोण से वो किसी भी चीज को किसी भी रूप में ढालने में सक्षम होता है. आपको ऐसी ही कुछ अनोखी चीजों से रूबरू करते हैं. जिनमें आपको एक अद्भुत कलाकृति देखने मिलेगी, क्यूंकि कलाकार का अंदाज़ काफी अनूठा होता है. वो साधारण सी चीजों से ऐसी नायाब कलाकृति बना सकता है जिनसे आप नज़रें न हटा सकें. आइये डालते हैं एक नज़र ऐसे ही अनूठी कलाकृतियों पर .

लेगोस

जर्मनी में रहने वाले जॉन फॉरमैन अपने थैले में रंग-बिरंगे ब्लॉक रखने का बड़ा शौक था वो इनका उपयोग दीवार में हुए खेद को भरने में करते थे. जब इन ब्लॉक का एक ग्रुप बनकर तैयार हो जाता हैं तो देखने वह किसी खूबसूरत पेंटिंग के जैसा लगता हैं. जॉन अपने इस थैले के साथ अमेरिका और मेक्सिको समेत दुनिया के काफी हिस्सों में घूम चुके हैं.

चिपकाने वाला टेप

ऐसा ही जर्मन कलाकार मैक्स सॉर्न के बारे हैं वो भी कांच पर टेप चिपका-चिपका कर आकृतियां बनाने के मामले में दुनिया में काफी मशहूर हैं. इनकी ये कलाकृतियां की खासियत होती हैं कि वो सिर्फ रोशनी में ही चमकती हैं. सॉर्न ने कभी इसे शौकिया अंदाज में शुरू किया था लेकिन अब वह अपने इस ऑर्ट वर्क को हजारों यूरों में बेच रही हैं.

सब्जी और खाद्य पदार्थों का उपयोग 

इस तस्वीर को देखकर हर कोई हैरान रह जाता हैं क्यूंकि लोग इसे आम पेंटिंग जैसा समझते हैं, जबकि वास्तविकता में तस्वीर में नज़र आ रही हर चीज को खाया जा सकता है. दरअसल ये जगह के खाने ने ब्रिटिश कलाकार कार्ल वार्नर को उसे देखकर इतना प्रेरित कर दिया कि उन्होंने मजे-मजे में यह तस्वीर बना डाली. अब वार्नर विज्ञापन एजेंसियों को अपनी सेवाएं दे रहे हैं.

पेंसिल लेड

पेंसिल की नोंक पर आर्ट करना पूरी दुनिया में काफी मशहूर है. हैरानी की बात है कि पेन्सिल की नोंक का व्यास एक मिलीमीटर से भी कम होता है लेकिन इससे क्या कुछ नहीं बन सकता. ग्रेफाइट नक्काशी के लिये उपयुक्त माना जाता है. मूर्तिकार रांगना रॉयश-क्लिनकेनबर्ग ने ग्रेफाइट का बारीकी से इस्तेमाल कर ऐसी ही छोटी छोटी प्रतिमाएं बनाई हैं. तस्वीर में नजर आती पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा की ये प्रतिमा किसी प्रचार अभियान के लिये बनाई गई थी.

चुइंगगम

इतालवी कलाकार मॉरीजियो सैविनी ने इस आकृति को अपनी सबसे प्रिय चीज चुइंगगम से बनाया है. सैविनी अब तक राजनीतिक और सामाजिक रूप से कई महत्वपूर्ण मूर्तियां चुइंगगम से बना चुके हैं. 14 किलो चुइंगगम से बनी लोमड़ी की ये आकृति 28 हजार यूरो में बिकी थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

चलती ट्रेन में लड़की से हुआ एकतरफा प्यार, और फिर तलाशने के लिए करना पड़ा ये काम

कहते है कि प्यार पहली नजर में ही