विडियो: मजाक करने की मिली बड़ी सज़ा, खिलाड़ी ने ऐसा उतारा विरोधियों पर गुस्सा

- in खेल

नई दिल्ली। क्रिकेट के मैदान पर बहुत बार आपस में खिलाड़ियों को आपस में मज़ाक करते देखा गया है, लेकिन कभी-कभी मैदान पर मज़ाक करना सिर्फ खिलाड़ियों को ही बल्कि उनकी पूरी टीम को महंगा पड़ जाता है। ऐसी ही एक घटना घटी ऑस्ट्रेलिया के घरेलू टूर्नामेंट शेफील्ड शील्ड के एक मुकाबले मेंं। क्वींसलैंड को वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले गए इस मुकाबले में ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज मैट रेनशॉ का मैदान पर मज़ाक करना उनकी टीम क्वींसलैंड को भारी पड़ गया। रेनशॉ के मज़ाक करने के लिए उनकी टीम पर पांच रन का जुर्माना लगाया गया।विडियो: मजाक करने की मिली बड़ी सज़ा, खिलाड़ी ने ऐसा उतारा विरोधियों पर गुस्सा

क्या मज़ाक किया था रेनशॉ ने?

ब्रिसबेन के मैदान पर खेले गए इस मुकाबले में मैट रैनशॉ ने एक थ्रो पकड़ने के लिए विकेटकीपर दस्तानों का इस्तेमाल कर लिया था। दरअसल क्वींसलैंड के विकेटकीपर जिमी प्रियर्सन गेंद के पीछे दौड़कर स्केवअर लेग की ओर गए। वो अपने दस्तानों को फेंककर गेंद को पकड़ने के लिए दौड़े थे और उस समय रेनशॉ स्लिप में खड़े होकर फील्डिंग कर रहे थे। रेनशॉ ने विकेटकीपर के थ्रो को पकड़ने के लिए उसी के एक दस्ताने का इस्तेमाल कर लिया। रेनशॉ ने गेंद पकड़ी। और एक बार जब प्रियर्सन विकेट पर आए तो रेनशॉ ने उन्हें दस्ताने वापस कर दिए।

इस वजह से लगा पांच रन का फाइन

क्रिकेट के कानून 27.1 के मुताबिक, ‘मैदान पर सिर्फ विकेटकीपर ही दस्ताने पहनकर फील्डिंग कर सकता है।’ अंपायर्स के पास क्वींसलैंड पर पांच रन का जुर्माना लगाने के अलावा कोई और विकल्प नहीं था। इस तरह से रेनशॉ के एक छोटे से मज़ाक के लिए उनकी पूरी टीम को पांच रन का फाइन झेलना पड़ा।

बड़ी खबर: शमी कम पत्नी हसीन जहां ने मीडिया के सामने पेश की शमी की ये रिकॉर्डिंग, सुनकर हैरान हो जायेंगे

फाइन लगने के बाद ये बोले रेनशॉ

रेनशॉ ने मैच के बाद कहा किॉ, ‘दस्ताना मेरे पास ही पड़ा था तो मैंने सोचा इसे पहनकर गेंद पकड़ना काफी मजाकिया रहेगा।’ उन्होंने कहा कि उस समय मैंने कानून के बारे में नहीं सोचा था। उन्होंने कहा, ‘उस समय मैंने सिर्फ यह सोचा था कि यह काफी फनी रहेगा लेकिन अंपायर्स ने इस पर चर्चा की और पांच रनों का जुर्माना लगा दिया।’

जुर्माने के बाद रेनशॉ ने इस तरह उतारा गुस्सा

मैट रेनशॉ ने पांच रनों के उस जुर्माने का गुस्सा दूसरी पारी में वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाज़ों पर निकाला। रेनशॉ ने दूसरी पारी में दमदार बल्लेबाज़ी करते हुए नाबाद 143 रन बनाए। इस पारी में उन्होंने 196 गेंदों का सामना करते हुए 14 चौके जड़कर 143 रन ठोके। रैनशॉ की दमदार बल्लेबाज़ी की बदौलत ही क्वींसलैंड की टीम ने पांच रन का फाइन लगने के बावजूद भी इस मैच को 211 रन से जीता। इस मैच में क्वींसलैंड ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए पहली पारी में 263 रन बनाए। इसके जवाव में वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया ने 9 विकेट पर 211 पर अपनी पारी घोषित कर दी। क्वींसलैंड ने अपनी दूसरी पारी 2 विकेट पर 252 रन बनाकर घोषित की। वहीं वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी सिर्फ 93 रनों पर ढेर हो गई।

loading...

You may also like

बॉल टेंपरिंग मामले में श्रीलंकाई कप्तान दिनेश चांडीमल को पाया गया दोषी: आईसीसी

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने रविवार को कहा