Home > राज्य > उत्तराखंड > उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस की नई कमेटी जुलाई के पहले हफ्ते तक होगी गठित

उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस की नई कमेटी जुलाई के पहले हफ्ते तक होगी गठित

देहरादून: प्रदेश कांग्रेस की नई कार्यकारिणी के गठन को लेकर इंतजार अब खत्म होने जा रहा है। पखवाड़ेभर बाद यानी अगले माह जुलाई के पहले हफ्ते में प्रदेश कांग्रेस को नई कमेटी मिलने के प्रबल आसार हैं। प्रदेश संगठन में इस बार कई पूर्व विधायक भी जगह बनाते दिखाई पड़ सकते हैं। उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस की नई कमेटी जुलाई के पहले हफ्ते तक होगी गठित

प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह की इस नई कमेटी में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय के चहेतों को कितनी तवज्जो मिलती है। इसे लेकर सियासी हलकों में कई तरह की चर्चाएं हैं। यही नहीं, जिलाध्यक्षों से लेकर शहर अध्यक्षों को भी बदलने की तैयारी है। 

प्रदेश कांग्रेस के नए अध्यक्ष के रूप में प्रीतम सिंह बीते वर्ष मई माह में कमान संभाल चुके हैं। लेकिन प्रदेश कांग्रेस की नई कार्यकारिणी की डगर सालभर से ज्यादा गुजरने के बाद ही साफ हो पाई है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह को अब तक पिछली कार्यकारिणी से ही काम चलाना पड़ा है। 

हालांकि, प्रदेश कांग्रेस की नई कमेटी का आकार सीमित ही रहने जा रहा है। इसमें तकरीबन 55 तक ही पदाधिकारी व सदस्यों को जगह मिल सकती है। इसकी वजह ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी और उसके नए मुखिया राहुल गांधी के रुख को माना जा रहा है। पार्टी हाईकमान उत्तराखंड के साथ ही उत्तरप्रदेश में लंबी-चौड़ी प्रदेश कार्यकारिणी के प्रयोग को देख चुका है। पार्टी को इसमें खास कामयाबी हाथ नहीं लगी। ऐसे में सक्रिय पार्टी नेताओं को नई टीम में जगह देकर संगठन को नया कलेवर देने की तैयारी है। 

हालांकि, पार्टी की इस कवायद में कई दिग्गज और लंबे समय से अहम पदों पर बैठे पदाधिकारियों को झटका लग सकता है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह का 20 जून के बाद दिल्ली जाकर पार्टी के आला नेताओं से मुलाकात करने का कार्यक्रम है। इस मुलाकात को नई प्रदेश कांग्रेस कमेटी के गठन के लिहाज से अहम माना जा रहा है। पार्टी सूत्रों की मानें तो प्रीतम के इस दौरे में प्रदेश संगठन की नई कमेटी पर मुहर लगना तय है। इसमें कई पूर्व विधायक भी संगठन में जगह बनाने के लिए दावेदारों की कतार में हैं। 

इसके साथ ही देखना ये भी होगा कि पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश, पूर्व अध्यक्ष किशोर उपाध्याय अपने कितने चहेतों को नई कमेटी में जगह दिलाने में कामयाब रहते हैं। अंदरखाने ये जोड़तोड़ तेज हो चुकी है। यही नहीं प्रदेश संगठन के साथ ही जिलों, शहरों और ब्लॉकों की इकाइयों में भी नए चेहरे दिखाई पड़ सकते हैं। ब्लॉक अध्यक्षों की सूची भी साथ ही जारी होने की संभावना जताई जा रही है। वहीं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह का कहना है कि नई कमेटी का गठन जल्द होगा।

Loading...

Check Also

सम्पन्न हुई राज्य अभियोजन अधिकारी सेवा संघ की बैठक…

राजधानी लखनऊ के कलेक्ट्रेट परिसर में राज्य अभियोजन अधिकारी सेवा संघ की बैठक सम्पन्न हुई, …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com