डोनाल्ड ट्रंप ने बताया- अमेरिकी दल वार्ता की तैयारियों के लिए उत्तर कोरिया पहुँचा

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और नॉर्थ कोरिया के सुप्रीम लीडर किम जोंग उन के बीच होने वाली बातचीत में फिर एक नया मोड़ आया है. अब डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर कहा है कि ‘हमारा अमेरिकी दल किम जोंग – उन और मेरे बीच होने वाली वार्ता का प्रबंध करने के लिए नॉर्थ कोरिया पहुंच गया है’. साथ ही, ट्रंप ने अपने ट्वीट में यह भी कहा कि उन्हें वास्तव में लगता है कि उत्तर कोरिया में काफी क्षमता है. डोनाल्ड ट्रंप ने बताया- अमेरिकी दल वार्ता की तैयारियों के लिए उत्तर कोरिया पहुँचा

इससे पहले 24 मई को ट्रंप ने किम जोंग उन के साथ 12 जून को होने वाली मुलाकात रद्द कर दी थी. मुलाकात को रद्द करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा था कि किम के हाल के बयानों से यह मुलाकात संभव नहीं है. बता दें कि मुलाकात तय होने के बाद ही किम ने चीन का दौरा किया था, जो अमेरिका की आंखों में खटकने लगा था. उसके बाद ही इस मुलाकात पर ग्रहण लग गया था. इसके बाद ही व्हाइट हाउस ने मुलाकात रद्द करने संबंधी एक ट्वीट कर दिया था. 

ट्रंप ने कहा था कि जब से किम जोंग उन और चीन  के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की मुलाकात हुई है, तभी से नॉर्थ कोरिया के स्वभाव में बदलाव आया है. पहले बैठक होने की पूरी संभावना थी, लेकिन नॉर्थ कोरिया का स्वभाव अचानक आक्रामक हुआ है. ट्रंप ने कहा कि शी जिनपिंग बहुत अच्छे पोकर प्लेयर हैं, मैं किसी पर आरोप नहीं लगा रहा हूं. लेकिन ये सच है कि जिनपिंग से दूसरी मुलाकात के बाद ही किम के रुख में बदलाव हुआ है.

J&K: एक बार फिर आतंकियों ने भारतीय सेना के कैंप को बनाया निशाना, एक जवान शहीद

आपको बता दें कि जब से दोनों देशों के नेताओं की बैठक की बात सामने आई थी. तभी से अमेरिका लगातार नॉर्थ कोरिया पर अपने परमाणु कार्यक्रमों को रोकने का दबाव बनाने लगा था. नॉर्थ कोरिया ने भी वादा किया था कि वह जल्द ही परमाणु परीक्षण के कार्यक्रमों को रद्द कर देगा. लेकिन बाद में नॉर्थ कोरिया की ओर से बयान जारी कर कहा गया था कि अगर परमाणु हथियारों को लेकर अमेरिका  की तरफ से एकतरफा दबाव बनाया गया, तो बातचीत रद्द भी की जा सकती है. इन तेजी से बदलते घटनाक्रमों के बीच अब 12 जून को ट्रंप और किम जोंग उन के बीच मुलाकात सिंगापुर में होनी तय है. इस पर पूरी दुनिया अपनी नजर बनाये हुए है. अब यह देखना होगा कि वास्तव में यह मुलाकात हो पाती है या नहीं.  

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

अफ़ग़ानिस्तान में आतंक फ़ैलाने में आईएसआई का हाथ- अमरुल्लाह सालेह

अफगानिस्तान अफगान जासूस विभाग के पूर्व प्रमुख अमरुल्लाह सालेह